गंभीर के बाद अब इंडियन क्रिकेट टीम के ये 5 बेस्ट खिलाड़ी भी ले सकते हैं जल्द ही सन्यास

Get Daily Updates In Email

अभी कुछ दिन पहले ही भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी गौतम गंभीर ने क्रिकेट के सभी फॉरमेट से सन्यास लेने का फैसला लिया है. गौतम गंभीर के सन्यास लेने के बाद अब क्रिकेट के प्रेमियों में यह चर्चा काफी चल रही हैं कि गंभीर के बाद अब और कौन-कौन से ऐसे प्लेयर हैं जो कभी भी सन्यास की घोषणा कर सकते हैं. चलिए इस खबर में हम आपको बताने वाले हैं भारतीय क्रिकेट टीम के उन खिलाड़ियों के बारे में जो कभी भी अपने सन्यास की घोषणा कर सकते हैं.

हरभजन सिंह

भारतीय क्रिकेट टीम के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में से एक हरभजन सिंह अब क्रिकेट मैच में कम ही नजर आते हैं. हरभजन आखिरी बार 2016 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलते नजर आए थे. तब से लेकर वे अभी तक अंतरराष्ट्रीय मैच में नजर नहीं आए हैं. वे सिर्फ आईपीएल में ही दो साल से नजर आ रहे हैं. ऐसे में हरभजन कभी भी सन्यास की घोषणा कर सकते हैं.

इरफान पठान

भारतीय क्रिकेट टीम के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी 2007 टी-20 विश्वकप विजेता टीम के हिस्सा रहे चुके इरफान पठान काफी समय से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में नजर नहीं आए हैं. इरफान पठान ने 2006 पाकिस्तान के खिलाफ एतिहासिक हैट्रिक लगाकर सभी को चौंका दिया था.

युवराज सिंह

भारतीय क्रिकेट टीम के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज युवराज सिंह की बल्लेबाजी के कभी काफी चर्चे होते थे. लेकिन काफी समय से वे कुछ खास अपनी टीम के लिए नहीं कर पा रहे हैं. बता दें कि युवराज सिंह ने भी 2007 वर्ल्ड टी-20 और 2011 वन-डे विश्वकप में टीम इंडिया को वर्ल्ड चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभाई थी. कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से गुजरने वाले युवराज भी कभी भी सन्यास की घोषणा कर सकते हैं.

सुरेश रैना

रैना ने पिछले साल आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन किया था. जिसके बाद उन्हें टीम इंडिया में खेलने का मौका मिला था. लेकिन वे दोबारा टीम के लिए कुछ नहीं कर पाए थे. इसलिए अब यही कह सकते हैं कि वे लगातार नाकामयाब हो रहे हैं. ऐसे में वे सन्यास की घोषणा कर सकते हैं.

अमित मिश्रा

36 वर्षीय अमित मिश्रा शुरू से ही टीम इंडिया में कोई खास योगदान नहीं दे पाए हैं. बता दें कि अमित मिश्रा ने भारतीय क्रिकेट टीम के लिए 22 टेस्ट, 36 वनडे और 10 टी20 मैच खेले हैं. ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि वे क्रिकेट को कभी भी अलविदा कह सकते हैं.

Published by Lakhan Sen on 08 Dec 2018

Related Articles

Latest Articles