पहले टेस्ट मैच के हीरो चेतेश्वर पुजारा ने तोड़े कई रिकार्ड्स, 16 शतकों के साथ की गांगुली की बराबरी

Get Daily Updates In Email

भारतीय टीम के टेस्ट में अनुभवी खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा ने एडिलेड में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में ऐतिहासिक पारी खेली. पुजारा ने एडिलेड टेस्ट मैच के पहले दिन ना सिर्फ टीम इंडिया को खराब स्थिति से बाहर निकाला बल्कि यादगार शतक जड़ डाला. यह उनके टेस्ट करियर का 16वां शतक साबित हुआ और ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर ये उनका पहला शतक रहा.

अपने टेस्‍ट करियर का 16वां शतक जमाने वाले पुजारा ने इस दौरान टेस्ट क्रिकेट में 5000 रन भी पूरे किए. इस मुकाम पर पहुंचने वाले वह 12वें भारतीय हैं. अपने करियर के दौरान पुजारा ने 108 पारियों में आठ बार नाबाद रहते हुए 50.28 के औसत से रन बनाए हैं. इस दौरान नाबाद 206 रन उनका सर्वोच्च स्‍कोर है. उनके नाम 16 शतक के साथ 19 अर्धशतक हैं.

चेतेश्वर पुजारा अब सबसे ज्यादा शतक जमाने वाले भारतीय बल्लेबाजों की सूची में गांगुली की बराबरी पर पहुंच गए हैं. दोनों के नाम 16-16 शतक हैं. पुजारा ने इसके लिए 65 टेस्ट की 108 पारियां ली. गांगुली ने 113 टेस्ट की 188 पारियों में 16 शतक जमाए थे. अब सिर्फ आठ भारतीय बल्लेबाज ही पुजारा से आगे हैं. इनमें सचिन 51 शतक के साथ पहले स्थान पर हैं. वही दूसरी और पुजारा ने विराट कोहली का रिकॉर्ड तो तोड़ दिया पर वह ऑस्ट्रेलियाई धरती पर सचिन तेंदुलकर के बनाए रिकॉर्ड को तोड़ने से चूक गए. एडिलेड में पुजारा ने 450 गेंदे खेली पर सचिन ने 2004 के सिडनी टेस्ट में 524 गेंदों का सामना किया था जो कि एक भारतीय रिकॉर्ड है.

वहीं इस मैदान पर विराट ने 2014 में दोनों पारियों में 359 गेंदों का सामना किया था. जो कि पुजारा ने तोड़ दिया. एडिलेड में पहली पारी में शतक जमाने के बाद पुजारा जिस सूझ-बूझ के साथ खेल रहे थे उसे देखकर दूसरी पारी में लोगों को उनसे द्रविड़ के करिश्मे को दोहराने की उम्मीद थी. भारत ने साल 2003 में आखिरी बार जब एडिलेड में टेस्ट जीता था तब उस टेस्ट की दोनों पारियों में द्रविड़ ने शतक ठोका था. 15 साल बाद भारत की नई दीवार पुजारा भी कुछ उसी तेवर में नजर आ रहे थे लेकिन दूसरी पारी में वो 71 रन ही बना सके.

Published by Yash Sharma on 10 Dec 2018

Related Articles

Latest Articles