दुनिया का सबसे ऊंचा शहर है ला रिनकोनाडा, लोग करते हैं सोने की खदानों में बिना पैसे के मजदूरी

Get Daily Updates In Email

दुनिया में आज भी ऐसे कई शहर हैं जहां के बारे में जानकर लोग हैरान रह जाते हैं, आज हम भी आपको ऐसे ही एक शहर के बारे में बता रहे हैं. हम बात कर रहे हैं पेरु में एंडीज पहाड़ों में 5 किलोमीटर ऊपर बसे शहर ला रिनकोनाडा की जहां 30 हजार लोग रहते हैं. यहां टीन-टप्पर से बने टेम्पररी घर हैं और उनमें ही बरसों से लोग रह रहे हैं. बता दें यह शहर पेरु में स्थित है. इसे दुनिया का सबसे ऊंचा शहर भी कहा जाता है जो कि 5100 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है. सोने के ढेर पर बसे इस शहर में सड़कें और ड्रैनेज सिस्टम तक नहीं हैं.

courtesy

यहां का औसत तापमान 1.2 डिग्री सेल्सियस होता है. यहां की अजीब बात यह है कि यहां गर्मियों में बारिश होती है और सर्दियां सूखी रहती हैं. यहां सोने की खदानें हैं, पर यहां कोई कंपनी कानूनी रूप से उत्खनन नहीं करती. सारा काम गैरकानूनी ढंग से चलता है. बताया जाता है कि यहां के आदमी सोने की खदानों में काम करते हैं और महिलाएं इधर-उधर छितरे चट्टानों के टुकड़ों के बीच सोने के कण खोजती हैं.

courtesy

सुनने को मिलता है कि यहां की कम्पनियां मजदूरों को सैलरी भी नहीं देती हैं. जी हां, यहां मजबूरों से 30 दिन मुफ्त में काम करवाया जाता है. इसके बदले 31 वें दिन उन्हें अपनी जेबों में मटेरियल भरकर ले जाने की इजाजत होती है. इसके बावजूद यहां मजदूरी के लिए लोगों का आना जारी है. 2001 से 2009 के बीच यहां की आबादी में काफी बढ़ोतरी देखने को मिली थी.

courtesy

ला रिनकोनाडा शहर में हर काम अवैध रूप से होता है यही वहज है कि यहां के ज्यादातर लोग गरीबी में जिंदगी जीने को मजबूर हैं. क्योंकि ज्यादातर कंपनियां यहां काम करने वाले मजदूरों को सैलरी नहीं देती या यूं कहें कि एक तरह से उनसे बंधुआ मजदूरों की तरह काम लिया जाता है.

Published by Yash Sharma on 29 Dec 2018

Related Articles

Latest Articles