एक्टर के साथ संवाद लेखक भी थे कादर खान, अमिताभ जैसे स्टार की फिल्मों के लिखे थे संवाद

Get Daily Updates In Email

मशहूर अभिनेता कादर खान हिंदी सिनेमा के जाने-माने पटकथा लेखक, अभिनेता, कॉमेडियन थे. उन्होंने अपनी बेहतरीन अदाकारी की बदौलत हमेशा दर्शकों के दिलों पर राज किया. वह ऑनस्क्रीन ही नहीं बल्कि ऑफस्क्रीन भी एक्टिव रहते थे. उन्होंने लगभग 300 फिल्मों में काम किया और लगभग 200 फिल्मों को लिए स्क्रीन प्ले भी लिखा.

View this post on Instagram

R. I. P #kaderkhan Mbele yako nyuma yetu @mambwendekhan @kipupwebachani

A post shared by Mambwende comedian (@mambwendekhan) on

साल 1970 से उन्होंने बॉलीवुड के हर बड़े कलाकार के साथ काम किया. कादर खान ने राजेश खन्ना की ‘महाचोर’, ‘छैला बाबू’, ‘धरम कांटा’, ‘फिफ्टी फिफ्टी’, ‘नया कदम’, ‘मास्टरजी’ और ‘नसीहत’ जैसी फिल्मों के डायलॉग लिखे.

उन्‍हें डायलॉग राइटर के तौर पर ब्रेक राजेश खन्ना ने ही दिया था. उन्‍हें मेरी आवाज सुनो फिल्म के लिए 1982 में सर्वश्रेष्ठ संवाद लेखक का पुरस्कार मिला और 1993 में अंगार फिल्म के लिए सर्वश्रेष्ठ संवाद लेखक का फिल्म फेयर पुरस्कार मिला.

उन्‍होंने कई फ‍िल्‍मों केे लिए पटकथाएं भी लिखीं. कादर खान को एक बेहतरीन एक्‍टर के साथ एक लेखक के रूप में याद किया जाएगा. अमिताभ बच्‍चन की हिट फिल्मों के पीछे कादर के संवादों का अहम रोल रहा है. उन्‍होंने अमिताभ की कई फ‍िल्‍मों के लिए सुपर डायलॉग लिखे.

‘शराबी’, ‘कुली’, ‘देश प्रेमी’, ‘लावारिस’, ‘मुकद्दर का सिकंदर’, ‘परवरिश’, ‘मिस्टर नटवरलाल’, ‘खून पसीना’ और ‘हम’ जैसी अमिताभ बच्चन की ज्यादातर फिल्मों के डायलॉग्स कादर खान ने ही लिखे हैं.

इतना ही नहीं एक्टिंग में बड़े पर्दे पर गोविंदा के साथ उनकी जोड़ी भी काफी मशहूर रही. दोनों ने ‘कुली नंबर 1’, ‘राजा बाबू’, और ‘साजन चले ससुराल’, ‘हीरो नंबर 1’ और ‘दुल्हे राजा’ जैसी कई हिट फिल्में दी. इसके साथ ही उन्होंने विभिन्न तरह की फिल्मों में अपने अभिनय का जौहर दिखाया.

Published by Yash Sharma on 02 Jan 2019

Related Articles

Latest Articles