बदलती टेक्नोलॉजी के चलते इस साल से बंद हो सकती हैं जिप्सी से लेकर ओमनी तक ये चुनिंदा कार्स

Get Daily Updates In Email

नए साल के मौके पर भारतीय ऑटोमोबाइल कम्पनियों में भी कई सारे बदलाव देखने को मिलेंगे. जहां नई टेक्नोलॉजी और मापदंडो के आधार पर कारें बाज़ार में आएंगी वहीं कई पुरानी कारें बाज़ार में आना बंद हो जाएंगी. आइए बताते हैं ऐसी गाड़ियों के बारे में जो 2019 के दौरान बंद की जा सकती हैं. इन कारों को आगामी बीएस-6 उत्सर्जन मानक, क्रैश टेस्ट मानदंडों और कम बिक्री के चलते चुना गया है.

1. मारुती सुजुकी जिप्सी

जिप्सी ने भारतीय बाज़ार में 1980 में कदम रखा था और इसे काफी ख्याति मिली थी. इसे बंद करने की मुख्य वजह इस साल से लागू होने वाले भारत न्यू व्हीकल सेफ्टी एसेस्मेंट प्रोग्राम माना जा रहा है. इसकी कीमत 5.70 लाख रुपए से लेकर 6.40 लाख रुपए है. वहीं औसत मासिक बिक्री भी 500 से कम यूनिट है.

2. मारुती सुजुकी ओमनी

भारत में इस गाड़ी को 1985 में लॉन्च किया गया था. पिछले तीन दशकों से ओमनी का भारत में नया जनरेशन मॉडल लॉन्च नहीं किया गया है. हालांकि कंपनी बता दें ओमनी की आज भी मासिक बिक्री कई कारों की तुलना में काफी ज्यादा है. फिर भी कम्पनी इसे अब बंद करने जा रही है. इसकी कीमत 2.76 लाख रुपए है.

3. महिंद्रा जायलो

साल 2009 में लॉन्च हुई महिंद्रा जायलो को भी कंपनी इस साल बंद कर सकती है. महिंद्रा जायलो को पहली जनरेशन स्कॉर्पियो के प्लेटफॉर्म पर बनाया गया है जो कि आगामी क्रैश टेस्ट को पास करने में असमर्थ है. इसकी कीमत 9.17 लाख रुपए से 12 लाख रुपए हैं और औसतन मासिक बिक्री 500 यूनिट्स है.

4. टाटा नैनो

टाटा नैनो 2008 में लॉन्च होने के बाद सबसे सस्ती कार के रूप में सामने आई है. आगामी मानदंड़ो के चलते इसे बंद किया जा सकता है. इसकी कीमत 2.36 लाख रुपए से 3.34 लाख रुपए तक है और औसतन बिक्री भी 50 यूनिट्स है.

5. फ़िएट पुंटो

इसकी बिक्री अन्य कारों की तुलना में काफी लंबे समय से खराब चल रही है. इतना ही नहीं यह कार अपने सेगमेंट में सबसे पुरानी कार भी है. वहीं पुंटो रेंज की मासिक बिक्री लगभग 50 यूनिट्स तक ही है जिसमें अवेंचुरा और अर्बन क्रॉस शामिल हैं. कंपनी इस कार को खराब सेल्स के चलते बंद कर सकती है.

6.फ़िएट लीनिया

लीनिया की सालाना औसतन बिक्री 100 यूनिट्स से भी कम है. और ये कार अपने सेगमेंट की सबसे पुरानी कार्स में से एक है. खराब सेल्स के चलते कम्पनी इस कार को भी बंद करने का मन बना चुकी है.

Published by Yash Sharma on 07 Jan 2019

Related Articles

Latest Articles