मशहूर अभिनेता इरफ़ान खान को ब्राह्मण कहते थे उनके पिता

Get Daily Updates In Email

फिल्म इंडस्ट्री के सबसे उम्दा अभिनेता इरफ़ान खान ने अपनी बेहतरीन एक्टिंग से दर्शकों का दिल जीता है. उन्होंने ना सिर्फ बॉलीवुड बल्कि हॉलीवुड में भी जाकर अपनी प्रतिभा दिखाई है. बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड तक अपने अभिनय की छाप छोड़ने वाले अभिनेता इरफान खान ने हर वर्ग के दर्शकों को प्रभावित किया है. जयपुर के रहने वाले इरफ़ान का जन्म एक माध्यम वर्गीय मुस्लिम परिवार में हुआ था. उनका पूरा नाम साहबजादे इरफान अली खान है और उनके पिता टायर का व्यापार करते थे.

इरफ़ान बचपन से ही शाकाहारी थे. इस वजह से उनके पिता उन्हें अक्सर यह कहकर चिढ़ाते थे कि पठान परिवार में ब्राह्मण पैदा हो गया है. बहुत ही कम उम्र में उन्होंने अपने पिता को खो दिया था जिसके चलते उन्हें कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा. पैसो की तंगी के चलते जैसे-तैसे उन्होंने अपनी पढ़ाई को पूरा किया. इसके बाद उन्होंने अपनी स्कूल की फ्रेंड सुतपा सिकंदर से शादी की. कई टीवी सीरियल में काम करने के बाद उन्हें पहली बार बड़े पर्दे पर काम साल 1988 में आई फिल्म सलाम बॉम्बे में काम मिला.

इरफ़ान ने बॉलीवुड में तो कई बेहतरीन फिल्मों में काम किया ही है साथ ही हॉलीवुड में भी ‘स्पाइडर मैन’, ‘जुरासिक वर्ल्ड’ और ‘इन्फर्नो’ जैसी फिल्मों में काम किया. हाल ही में हॉलीवुड अभिनेता टॉम हैंक्स ने उनकी सराहना करते हुए कहा था कि इरफान की आंखें भी अभिनय करती हैं. इरफान ने 2005 में आई फिल्म ‘रोग’ में महत्वपूर्ण भूमिका निभाकर सभी का दिल जीत लिया. साथ ही फिल्म ‘हासिल’ के लिए इरफान खान को ‘बेस्ट विलेन’ का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला था. उसके बाद इरफान ने ‘लंचबॉक्स’, ‘गुंडे’, ‘हैदर’, ‘पीकू’ और ‘हिंदी मीडियम’ जैसी बेहतरीन फिल्मों में काम किया.

उनकी पिछली फिल्म हिंदी मीडियम में उनके काम को काफी सराहा गया था. वह बॉलीवुड की 30 से ज्यादा फिल्मों में अभिनय कर चुके हैं. इतना ही नहीं इरफान खान को फिल्म ‘पान सिंह तोमर’ के लिए नेशनल अवॉर्ड से भी सम्मानित किया जा चुका है. साथ ही साल 2011 में भारत सरकार की तरफ से उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया था.

Published by Yash Sharma on 07 Jan 2019

Related Articles

Latest Articles