कभी सोचा है महिलाओं के कपड़ों में क्यों नहीं होती जेब, इसके पीछे है ख़ास ऐतिहासिक कारण

Get Daily Updates In Email

अक्सर महिलाएं मॉडर्न ड्रेसेस पहने हुए ही नजर आती हैं. जिनमें से कुछ ड्रेसेस के डिज़ाइंस जैसे शर्ट और पेंट आदि पुरुषों की ड्रेस की तरह ही होते हैं. लेकिन क्या आपने कभी इस बात पर गौर किया है कि पुरुषोंके कपड़ों के मुकाबले महिलाओं के कपड़ों में कम जेबें होती हैं. तो चलिए आपको अब बताते हैं कि आखिर इसके पीछे का कारण क्या है?

Courtesy

बता दें काफी समय पहले पुरुषों के कपड़ों में भी जेब नहीं हुआ करती थी. इंग्लिश भाषा के साथ ही कपड़ों में ये जेब भी अंग्रेजों की ही देन है. लेकिन साल 1837 विक्टोरियन युग यानी ब्रिटिश महारानी विक्टोरिया के शासनकाल में अंग्रेज महिलाओं के कपड़ों में भी जेब नहीं होती थी. जिसके पीछे का कारण यह था कि जेब को भी मर्दानी चीज समझा जाता था.

Courtesy

महिलाओं के कपड़ों में जेब कम होना या न होना फैशन भी है. जब भी फैशन डिज़ाइनर महिलाओं के कपड़े सिलते हैं तो वे इस बात पर ध्यान देते हैं कि कपड़े सुंदर दिखे. फैशन डिज़ाइनर्स का मानना था कि उनकी ड्रेस का डिजाइन ऐसा होना चाहिए जिससे महिलाओं के शरीर को सही से दिखाया जा सके. जो कि कपड़ों में जेब लगाने से अधूरा रह जाएगा.

Courtesy

1840 के बाद जब मॉडर्न फैशन की शुरुआत हुई तब महिलाओं के लिए बड़े गले, पतली कमर और नीचे से घेरदार स्कर्टनुमा ड्रेस डिजाइन किए जाने लगे थे. जो कि धीरे-धीरे फैशन का आधार ही बन गया. महिलाओं के कपड़ों में जेब न होने का एक कारण यह भी है कि अगर महिलाओं के कपड़ों में जेब होगी तो वे पर्स यूज नहीं करेंगी जिससे पर्स के उद्योग में भी कमी आएगी.

Courtesy

अपने कपड़ों में पॉकेट के लिए एक समय में महिलाओं ने एक अभियान भी चलाया था. महिलाओं को पॉकेट की जरुरत महसूस होने पर महिलाओं द्वारा ‘Give us POcket’ अभियान चलाया था. यह अभियान यूरोपीय देशों की महिलाओं ने चलाया था. जिसके बाद से कुछ कपड़ों में जेब दी गई लेकिन इनका साइज काफी छोटा रखा गया. एक रिसर्च में यह पाया गया कि पुरुषों की जेब की लंबाई 9.1 इंच और चौड़ाई 6.4 इंच होती है जबकि महिलाओं की पॉकेट की लंबाई 5.6 और चौड़ाई 6 इंच होती है.

Courtesy

बताते चलें पहले और दूसरे विश्व युद्ध के समय महिलाओं के ड्रेस में काफी बड़ी जेब हुआ करती थी लेकिन शॉर्ट स्कर्ट का ट्रेंड आने के बाद से पॉकेट का चलन खत्म हो गया. इन दिनों महिलाओं के कपड़ों में जेब तो आने लगी हैं लेकिन ये बहुत कम देखने को मिलता है. इसके अलावा कुछ कपड़ों में तो सिर्फ जेब का डिज़ाइन ही दिखाया जाता है..

Published by Chanchala Verma on 12 Jan 2019

Related Articles

Latest Articles