बर्थडे: 21 साल की उम्र में टेस्ट मैच खेलने वाले विनोद कांबली ने महज 14 मैचों में ही बना दिए थे 1000 रन

Get Daily Updates In Email

टीम इंडिया के स्टार रहे क्रिकेटर विनोद कांबली आज अपना 47 वां बर्थडे मना रहे हैं. कांबली ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के साथ ही की थी. दोनों बचपन से काफी करीबी दोस्त रहे हैं. दोनों ने साथ ही क्रिकेट खेलना शुरू किया और लगभग साथ ही इंटरनेशनल क्रिकेट की भी शुरुआत की थी.

एक बेहद ही गरीब परिवार में जन्मे विनोद कांबली के पिता गणपत एक मैकेनिक हुआ करते थे. बचपन के दिनों में विनोद कांबली क्रिकेट खेलने के लिए स्टेडियम तक पहुंचने के लिए लोकल ट्रेन में सफर किया करते थे. बता दें कि 21 साल की उम्र में विनोद कांबली ने अपना पहला टेस्ट मैच खेला था. अपने पहले ही मैच में उन्होंने शेन वार्न के एक ओवर में लगभग 22 रन ठोक दिए थे. यह बात जानकर आश्चर्य होगा कि उन्होंने 23 साल की उम्र में ही टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया था.

अपने करियर की शुरुआत में ही बड़ी बड़ी पारियां खेलने वाले विनोद कांबली ने महज 14 टेस्ट मैच में ही 1000 रन बना लिए थे. बता दें कि ऐसा कारनामा करने वाले वह चौथे खिलाड़ी थे. इससे पहले हर्बर्ट स्टकलफ डॉन ब्रैडमैन और नील हार्वे ने यह कारनामा कर दिखाया था. कांबली के बाद भारत की ओर से सबसे कम उम्र में डबल सेंचुरी लगाने वाले बल्लेबाज सुनील गावस्कर हैं. गावस्कर ने 1971 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 21 वर्ष और 277 दिन की उम्र में यह कारनामा किया था. इस तरह से कांबली ने 22 साल बाद गावस्कर का रिकॉर्ड तोड़ा था.

कांबली के नाम एक और रिकॉर्ड दर्ज है. वह टेस्ट क्रिकेट में लगातार तीन पारियों में सेंचुरी जड़ चुके हैं. बैक-टू-बैक डबल सेंचुरी के बाद उनके बल्ले से लगातार तीन सेंचुरी निकली थी. कांबली बॉलीवुड फिल्म में भी नजर आ चुके हैं. सुनील शेट्टी की फिल्म ‘अनर्थ’ और अजय जडेजा के साथ ‘पल पल दिल के साथ में कांबली काम कर चुके हैं.

कांबली ने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच अक्टूबर 2000 में खेला था. इसके बाद उन्हें इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने का मौका नहीं मिला. हालांकि उन्होंने काफी लंबे समय बाद इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की. कांबली ने साल 2009 में इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहा था.

Published by Yash Sharma on 18 Jan 2019

Related Articles

Latest Articles