ऐसी ठण्ड कि आग लगा के चल रही ट्रेनें, गर्म पानी भी उछालो तो हवा में बन जा रही बर्फ

Get Daily Updates In Email

इन दिनों सभी लोग ठण्ड से बेहाल हैं. हर जगह लोग बस यही कह रहे हैं कि इस बार ठंड ने तो जान ही निकाल दी है. अगर आप भी ऐसा सोच रहे हैं तो रुकिए. यहां हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बता रहे हैं जहां की ठंड से लोग बहुत परेशान हो चुके हैं. यहां हम बात कर रहे हैं अमेरिका के अंटार्कटिक की जहां का तापमान माइनस 50 डिग्री हो गया है. इतनी ठंडी की वजह से वहां के सभी स्कूल, कॉलेज और ऑफिस बंद कर दिए गए हैं. इसे शिकागो के लोगों ने साइबेरिया की तर्ज़ पर Chiberia नाम दिया है.

ठंडी इतनी ज्यादा है कि इस महिला के बालों की हालत कुछ ऐसी हो गई.

बात करें अमेरिका के सबसे ज्यादा ठंडे हिस्सों कि तो सबसे ज्यादा ठण्ड मिडवेस्ट में है. जिसमें 12 शामिल हैं. जिसमें इलिनॉय, इंडियाना, आइवा, मिशिगन, मिनेसोटा, नेब्रास्का, कैनसस, नॉर्थ डकोता, साउथ डकोता, ओहायो, विस्कानसिन, मिजॉरी. इलिनॉय में आता है शिकागो. इन जगहों पर ठंडी की वजह से बुरा हाल है.

यही नहीं नॉर्थईस्ट एरिया की भी हालत कुछ ऐसी ही है. जिसमें न्यूयॉर्क, वॉशिंगटन, न्यू जर्सी, पेन्सिलवीनिया सहित कुल 11 स्टेट शामिल हैं.

चलिए अब आपको बताते हैं इस ठंड का आखिर कारण क्या है ?

बता दें धरती पर 2 ध्रुव हैं. एक ध्रुव है उत्तर में और एक ध्रुव है दक्षिण में और ध्रुवों के पास एक बड़े इलाके में बहुत ठंडी हवा होती ही है. जिसे पोलर वोरटेक्स कहते हैं. जिसका मतलब है हवा का फ्लो घड़ी की सूइयों से उल्टी दिशा में है. जिसकी वजह से ठंडी हवा ध्रुवीय इलाकों के पास ही बनी रहती है और उन्हीं इलाकों से हवा को बांधे रहता है. इनकी पकड़ गर्मियों में थोड़ी कम होती है लेकिन सर्दियों में यह और भी कड़ी हो जाती है.

कई बार सर्दी के दिनों में ऐसा भी है कि उत्तरी गोलार्ध में ये पोलर वोरटेक्स का एरिया फ़ैल जाता है और बड़ा भी हो जाता है. जिस वजह से सर्द ध्रुवीय हवाएं दक्षिण की तरफ फैल जाती हैं और इसी वजह से आर्कटिक की सर्द हवाएं अमेरिका में घुस जाती हैं.

बताते चलें पोलर वोरटेक्स कोई नई चीज नहीं है. इसे लेकर NASA का यह कहना है कि अब ये पहले से ज्यादा अस्थिर हो गया है. अमेरिका के अलावा ऐसा एशिया और यूरोप में भी होता है. साल 1977, 1982, 1985 और 1989 में पोलर वोरटेक्स की वजह से अमेरिका में ऐसी ही भयंकर ठंड पद चुकी है. पर इस बार ही ठंड में पिछले सभी रिकार्ड्स तोड़ दिए हैं.

Published by Chanchala Verma on 02 Feb 2019

Related Articles

Latest Articles