कुंभ : भारी संख्या में मैनेजमेंट ग्रेजुएट और इंजीनियर बन गए नागा साधू, हजारों ने ली दीक्षा

Get Daily Updates In Email

उत्तरप्रदेश के प्रयागराज में इस वक्त जोरों शोरों से कुंभ का आयोजन चल रहा है. इस दौरान बीते हफ्ते हुए दीक्षा समारोह में हजारों युवाओं ने अपने बाल त्यागे और अपना खुद का पिंड दान किया. रातभर चली अग्नि पूजा के बाद यह सभी प्राचीन परंपरा के अनुसार नागा साधु बने. हैरानी की बात है कि इन लोगों में बड़ी संख्या में इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट के ग्रेजुएट भी शामिल हैं.

मीडिया रिपोर्ट की मानें तो इस कुंभ में 10,000 से ज़्यादा लोगों ने नागा साधु बनने के लिए दीक्षा ली. सोमवार को इन सभी ने मौनी अमावस्या के मौके पर शाही डुबकी लगाई. संतों, महामंडलेश्वरों के साथ ही नए बने नागा संन्यासियों में डुबकी लगाने को लेकर सबसे ज्यादा उत्सुकता रही. नागा संन्यासियों ने धूना के सामने बैठकर पूरी रात ओम नम:शिवाय का मंत्र जप करते हुए पवित्र भभूत तैयार की. साथ ही गुरुमंत्र का जाप भी किया.

View this post on Instagram

#kumbh2019 start #up70 #Follow the @streets.of.prayagraj for the daily featured photo of the city #allahabad the heart of #uttarpradesh Share all the pictures of #prayagraj with us #streetsofprayagraj to get featured Captured by @rahul_photo Largest city of #uttarpradesh @myogi_adityanath #Follow us & tag in your post Used- #i_love_my_allahabad #streetofprayagraj And send your #pictures best of Prayagraj by the help of message Thank you . . . . . .#photography #clicked #allahabad #streetofallahabad #i_love_my_allahabad #prayagraj #allahabadlifestyle #allahabaddiares #allahabadi #dslr #snapshot#photo #clicked #photooftheday #picoftheday #kumbh #kumbhmela #allahabadtourism #capture #movement #instagood #instaclick #prayagrajtourism #travelphotography @uttar_pradesh @uttarpradeshtourism @streets.of.india @click_india_click @stories.of.india @streetsofup ******************************************************************************************************************

A post shared by Prayagraj,Heart of UP, (UP7O) (@streets.of.prayagraj) on

इस कड़े जीवन को जीने के लिए 10 हजार पुरुषों और महिलाओं ने दीक्षा ली है. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अंतर्गत ये लोग नागा साधु बने. यह परिषद भारत में हिंदू संतों एवं साधुओं का सर्वोच्च संगठन है. जूना अखाड़ा के चीफ गवर्नर और एबीएपी के जनरल सेक्रेटरी महंत हरि गिरी का कहना है कि दीक्षा समारोह केवल कुंभ के दौरान ही होता है. और हर बार इसमें शामिल होने वाले लोगों की संख्या हजारों में होती है.

View this post on Instagram

#मौनी_अमावस्या के अवसर पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं। जप, तप व दान का दिवस मौनी अमावस्या सनातन धर्म के सबसे प्राचीन पर्वों में से एक है। आज #कुंभ_मेला में दूसरा शाही स्नान भी है देश-विदेश से करोड़ो श्रद्धालु प्रयागराज के संगम तट पर आस्था की डूबकी लगाने के लिए उपस्थित है। #MauniAmawasya #KumbhMela2019 #kumbh2019 #kumbhmela

A post shared by Ajay Kumar Dubey (@ajaykrdubey) on

उन्होंने कहा कि एक बार जब अखाड़े का हिस्सा बन जाए तो रास्ता बेहद कठिन हो जाता है. कुछ सालों तक उम्मीदवारों की जांच की जाती है कि वह अपनी इच्छा से रह रहे हैं या फिर किसी संकट से बचने के लिए यहां आए हैं. जब वह सभी परीक्षाएं पास कर लेते हैं और हमें संतुष्ट करते हैं, तभी वह नागा ठहराए जाते हैं.

बता दें मकर संक्रांति पर शुरू हुए इस कुम्भ में करोड़ों की संख्या में लोग देश-विदेश से आते हैं. और यहां हर तरह के धर्मात्मा का डेरा लगा ही रहता है. यह कुम्भ मार्च में शिवरात्रि के पर्व तक चलेगा.

Published by Yash Sharma on 04 Feb 2019

Related Articles

Latest Articles