हाईटेक कुंभ : कोई बाबा हैं IIT-IIM से, तो कोई हैं कैम्ब्रिज-ऑक्सफोर्ड जैसी यूनिवर्सिटी में प्रोफ़ेसर

Get Daily Updates In Email

प्रयागराज में चल रहे सबसे बड़े धार्मिक मेले में देश-विदेश के कई साधू-संत और श्रद्धालु आते हैं. जो वहां की पवित्र नदी में स्नान करते हैं और दर्शन करते हैं. साधू-संतो को लेकर एक मत होता है कि वह लोग ज्यादा पढ़े-लिखे नहीं होते हैं. उन्हें सिर्फ धार्मिक बातों का ही ज्ञान होता है. लेकिन यहां पर एक अखाड़ा ऐसा भी है जिसमें आपको अधिक संख्या में पढ़े-लिखे साधू मिलेंगे.

निरंजनी नाम के अखाड़े में अधिक संख्या में ग्रेजुएट्स बाबा मिलेंगे. इसकी स्थापना सन् 904 में विक्रम संवत 960 कार्तिक कृष्णपक्ष दिन सोमवार को गुजरात के मांडवी नामक जगह पर हुई थी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस अखाड़े के करीब 70 फीसदी साधु-संतों ने उच्च शिक्षा प्राप्त की है. जिसमें डॉक्टर से लेकर प्रोफेसर, लॉ एक्सपर्ट, संस्कृत के विद्वान और आचार्य शामिल हैं.

इस अखाड़े के एक संत स्वामी आनंदगिरि नेट क्वालिफाइड हैं. वह देश-विदेश के विश्वविद्यालयों में लेक्चर भी दे चुके हैं. जिसमें आईआईटी खड़गपुर, आईआईएम शिलांग, कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और सिडनी यूनिवर्सिटी शामिल हैं. वह गेस्ट लेक्चरर के तौर पर अहमदाबाद भी जाते रहते हैं. फिलहाल वह बनारस से पीएचडी कर रहे हैं.

View this post on Instagram

यह है कुम्भ महापर्व की भव्यता।#MauniAmawasya #मौनी_अमावस्या #ShahiSnan #KumbhMela2019 ・・・ Mauni Amawasya 🙏 #kumbh #kumbhmela #kumbh2019 #prayagraj #a #sangam #triveni #akshayvat #cityofprimeministers @instagram @rvcjinsta @tigerrajasingh @arvindrajchandel @ram.bhakt @amitshahofficial @narendramodi @bjpfanclub.56inch @modiforindia @narendramodimission2019 @_yogiadityanath @myogi_adityanath @rajnathsinghbjp @bjp4india @bjp4delhi @rss.org_official @sanghparivarorg @mohan.bhagwat_ @kattar_hindu_mahakaal @jay_shree_ram_kattar @united_hindu @theindianpolitics @hindustan__zindabad @hinduswarajya @mahadebsarkar007 @adiyogi_ke_bhakt @sadhguru_yogi_and_mystic @adiyogi_shambhu @kattar_hindu_mahakaal @mahakaalfanclub @jai_mahakaal1 @mahakaal.baba @rss.org @mahadev_k_bhaktt @mahadev_ke_diwane__ @adiyogi_ke_bhakt @arvindrajchandel #ram #jairam #yogiraj #ayodhya #mandirvahibnayenge #vhp #rss #BajarangDal #hindu #hinduism #sadhu @bjp4 #sanatandharam #bharat #unitedhindu #mandirvahib #jaishriram #jaihind

A post shared by 🙏हर हर महादेव🙏 (@jaago__india) on

निरंजनी अखाड़ा इस समय इलाहाबाद और हरिद्वार में पांच स्कूल और कॉलेजों को संचालित कर रहा है. इन स्कूल और कॉलेजों के मैनेजमेंट से लेकर सारी व्यवस्थाएं इस अखाड़े के संत ही संभालते हैं. साथ ही छात्रों को शिक्षा देने का काम भी इसी अखाड़े के संत ही करते हैं. अखाड़े में 150 में से 100 से ज्यादा महामंडलेश्वर और 1500 में से 1100 संत-महंत उच्च शिक्षित हैं.

बता दें कि इस अखाड़े में फिलहाल 10 हजार से अधिक नागा संन्यासी हैं. जबकि महामंडलेश्वरों की संख्या इस अखाड़े में 33 है. वहीं इस अखाड़े में महंत और श्रीमहंतों की संख्या एक हजार से भी अधिक है. 15 जनवरी से इस मेले की शुरुआत हो हुई है जो 4 मार्च यानी महाशिवरात्रि को खत्म होगी. इस मेले में देशभर के अखाड़ों से आए साधु-संत आकर्षण का खास केंद्र होते हैं. अभी तक दो शाही स्नान इस मेले में आयोजित हो चुके हैं. जिसमें करोड़ो लोगो ने आस्था की डूबकी लगाई है.

Published by Yash Sharma on 05 Feb 2019

Related Articles

Latest Articles