दूसरे शाही स्नान पर लगाई 3 करोड़ से ज्यादा लोगों ने डूबकी, विदेशी भक्तों में दिखा स्नान का क्रेज

Get Daily Updates In Email

मौनी अमावस्या पर सोमवार को करीब तीन करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं ने यहां कुम्भ मेले में गंगा और संगम में आस्था की डुबकी लगाई. आईसीसीसी के एक अधिकारी ने बताया कि रविवार शाम छह बजे तक एक करोड़ से अधिक लोगों ने स्नान किया था और रविवार रात 12 बजे से सोमवार सुबह सात तक एक करोड़ से अधिक लोग स्नान कर चुके हैं. उन्होंने बताया कि सोमवती अमावस्या होने की वजह से स्नान के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु रात से ही मेला क्षेत्र में डटे हुए थे.

सुबह से ही घाटों पर स्नान के लिए लोगों की भीड़ शुरू हो गई थी. यह सिलसिला दोपहर बाद तक चलता रहा. भीड़ को देखते हुए सरकार ने भी सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए हैं. पुलिस की ओर से भी सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए थे. इस दूसरे शाही स्नान पर विदेशी श्रद्धालु भी उत्साह के साथ भाग ले रहे हैं. सभी 13 अखाड़ों के संतों ने संगम में डुबकी लगाई. इस दौरान प्रशासन की तरफ से हेलिकॉप्टर से पुष्प वर्षा भी की गई.

इस मौके पर देश के नहीं बल्कि विदेश के लोगों ने भी भारी मात्र में यहां आकर पवित्र नदी में डूबकी लगाई. अमेरिका, इजराइल, जापान, नेपाल समेत दुनिया के 20 से ज्यादा देशों के लोग संगम की पावन धरती पर आए हुए. शक्तिधाम की जगद्गुरु साई मां के साथ आए इन विदेशी श्रद्धालुओं की आस्था में पूरी तरह डूबे नजर आए. वहीं साईं मां ने 10 विदेशी भक्तों को यहां महामंडलेश्वर बनाने का भी फैसला किया है. इन सभी को निर्मोही अखाड़े में 8 फरवरी को इसकी दीक्षा दी जाएगी.

प्रयागराज में 55 दिन चलने वाले कुंभ मेले में देशी ही नहीं विदेशियों ने भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और संगम में आस्था की डुबकी लगाई. बता दें विदेशियों में कुंभ स्नान को लेकर काफी उत्साह रहता है, जिसके चलते कुंभ में हर बार हजारों की संख्या में विदेशी पहुंचते हैं. इससे पहले फाफामऊ से अरैल के बीच संगम के लंबे दोनों तटों पर बने 40 स्नान घाटों पर दिन भर स्नान और डूबकी लगाने का सिलसिला चलता रहा. इसके साथ ही शाम को दीपदान भी हुआ.

Published by Yash Sharma on 05 Feb 2019

Related Articles

Latest Articles