अमिताभ की पहली फिल्म सात हिन्दुस्तानी के 50 साल पूरे, 5 हजार रुपए में बिग बी ने किया था अभिनय

Get Daily Updates In Email

सदी के महानायक यानि अमिताभ बच्चन की पहली फिल्म को प्रदर्शित हुए इस साल 50 साल होने जा रहे हैं. अमिताभ की पहली फिल्म का नाम ‘सात हिन्दुस्तानी’ था. इस फिल्म के साथ अमिताभ के फ़िल्मी करियर के भी 50 साल पूरे होंगे. फिल्म ‘सात हिन्दुस्तानी’ को ख़्वाजा अहमद अब्बास ने डायरेक्ट किया था. इस फिल्म में सात मुख्य कलाकार थे, इसलिए इस फिल्म का नाम ‘सात हिन्दुस्तानी’ था. इस फिल्म की कहानी बेहद शानदार थी. दरअसल फिल्म की कहानी गोवा को पुर्तगाली शासन से आज़ाद कराने पर आधारित थी. इस फिल्म में अमिताभ को पहली बार अभिनय का मौका मिला था. हालांकि यह मौका उन्हें आसानी से नहीं मिला था.

courtesy

बचपन से नाटकों में भाग लेने वाले अमिताभ ने नैनीताल में अपनी स्कूली शिक्षा के दौरान कई नाटक में अभिनय किया था. इसके बाद उन्होंने कॉलेज में भी नाटकों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था. अमिताभ नाटकों के साथ फ़िल्मों में काम करने की इच्छा भी मन ही मन बना चुके थे. इतना ही नहीं उन्होंने कॉलेज के दिनों में ही एक बार किसी ‘फ़िल्म स्टार हंट’ के विज्ञापन को देखकर अमिताभ ने अपनी फ़ोटो आदि प्रतियोगिता में मुंबई भेज दिए थे. लेकिन उस वक्त बात नहीं बनी.

courtesy

इसके बाद अमिताभ कोलकाता में ‘बर्ड एंड कंपनी’ में सेल्स एग्ज़िक्यूटिव के पद नौकरी करने लगे थे. उस वक्त उन्हें वेतन सिर्फ 1400 रुपए महीने मिलता था. तभी उन दिनों एक बार अमिताभ के भाई अजिताभ ट्रेन से दिल्ली से मुंबई जा रहे थे कि उन्हें ट्रेन में उनकी एक मित्र मिली जिसने बताया कि ख़्वाजा अहमद अब्बास अपनी नयी फ़िल्म ‘सात हिन्दुस्तानी’ के लिए नए कलाकारों की तलाश कर रहे हैं. यह सुनते ही अजिताभ ने अमिताभ की फोटो दे दिए और बात करने को कहा. बाद में जब फिल्म के निर्माता अब्बास ने अमिताभ की फोटो देखी तो उन्हें बेहद पसंद आई. इसके बाद अमिताभ को अब्बास साहब के ऑफिस बुलाया गया.

courtesy

जैसी ही अब्बास साहब को पता चला की अमिताभ का सरनेम बच्चन हैं तो उन्होंने तुरंत अमिताभ से पूछा कि तुम क्या बच्चन के बेटे हो, घर से भागकर आये हो. तब अमिताभ ने कहा भागकर नहीं आया उन्हें पता है. लेकिन फिर भी अब्बास साहब ने बच्चन जी को तार भेजकर पूछा कि तुम क्या इस बात से सहमत हो कि अमिताभ फ़िल्मों में काम करे. अब्बास साहब के इस तार का जवाब देते हुए बच्चन जी ने लिखा था. यदि तुमको लगता है कि अमिताभ में कुछ योग्यता है तो हमारी सहमति है लेकिन लगता है ऐसी कोई योग्यता नहीं है तो उसे समझाकर वापस कोलकाता भेज दो. इसके बाद फिल्म ‘सात हिन्दुस्तानी’  के लिए अमिताभ बच्चन चुने गए थे.

courtesy

अमिताभ को ‘सात हिन्दुस्तानी’ में अभिनय के लिए कुल 5 हज़ार रुपए मिले थे. इस तरह से अमिताभ ने अपनी पहली फिल्म ‘सात हिन्दुस्तानी’ से अपना फ़िल्मी सफर शुरू किया था. हालांकि इस फिल्म के बाद भी अमिताभ को कई सालो तक संघर्ष करना पड़ा था. अमिताभ को असल पहचान फिल्म ‘आनंद’ से मिली थी. इस फ़िल्म में लीड हीरो राजेश खन्ना थे. इस फिल्म में अमिताभ ने बाबू मोशाय की भूमिका अदा की थी. इस फिल्म के चलते उन्हें पहली बार सर्वोत्तम सहायक अभिनेता का फ़िल्म फ़ेयर पुरस्कार भी मिला.

Published by Lakhan Sen on 08 Feb 2019

Related Articles

Latest Articles