दान करने के मामले में भी सबसे आगे हैं मुकेश अंबानी, सामाजिक कार्यों पर किए 437 करोड़ रुपए खर्च

Get Daily Updates In Email

देश के सबसे बड़े बिज़नेसमैन मुकेश अंबानी दान पुण्य करने में किसी से कम नहीं हैं. वे समय-समय पर गरीब लोगों की सहायता के फण्ड देते ही रहते हैं और इसी वजह से उनका नाम परोपकार करने वाले देश के सबसे अमीर लोगों में दर्ज किया गया है.

बता दें हुरुन रिसर्च इंस्टीट्यूट ने परोपकार पर सबसे ज्यादा खर्च करने वाले देश के अमीरों की लिस्ट जारी की है. खास बात तो यह है कि इस लिस्ट में मुकेश अंबानी का नाम सबसे पहले नंबर पर है. बता दें मुकेश अंबानी ने 1 अक्टूबर 2017 से 30 सितंबर 2018 तक सामाजिक कार्यों पर कुल 437 करोड़ रुपए खर्च किए हैं.

वहीं बात की जाए इस लिस्ट में दुसरे नंबर के अमीर शख्स की तो दूसरे नंबर पर हैं पीरामल ग्रुप के चेयरमैन अजय पीरामल. जिन्होंने कुल 200 करोड़ रुपए का दान दिया है. हुरुन इंडिया की इस लिस्ट में कुल 39 लोगों के नाम शामिल हैं. जिन्होंने कुल मिलाकर 1,560 करोड़ रुपए दान दिए हैं. पहले आपको बताते हैं इस लिस्ट के टॉप 10 अमीरों की लिस्ट –

1. मुकेश अंबानी, रिलायंस  – 437 करोड़

2. अजय पीरामल, पीरामल ग्रुप – 200 करोड़

3. अजीम प्रेमजी, विप्रो – 113 करोड़

4. आदि गोदरेज, गोदरेज ग्रुप – 96 करोड़

5.  युसूफ अली एम ए, लूलू ग्रुप – 70 करोड़

6. शिव नडार, एचसीएल – 56 करोड़

7. सावजी ढोलकिया, हरि कृष्णा एक्सपोर्ट – 40 करोड़

8. शपूरजी पलोंजी मिस्त्री, शपूरजी पलोंजी ग्रुप – 36 करोड़

9. सायरस मिस्त्री, पूर्व चेयरमैन (टाटा संस) – 36 करोड़

10. गौतम अडानी, अडानी ग्रुप – 30 करोड़

बताते चलें हुरुन की लिस्ट में वे लोग शामिल हैं जिन्होंने 1 अक्टूबर 2017 से 30 सितंबर 2018 तक 10 करोड़ रुपए से ज्यादा का दान दिया है. इस लिस्ट के हिसाब से सबसे ज्यादा रकम शिक्षा के लिए दान दी गई है. इस मामले में स्वास्थ्य और ग्रामीण विकास दूसरे और तीसरे नंबर पर है. बताते चलें मुकेश अंबानी अपने रिलायंस फाउंडेशन के जरिए सामाजिक कार्यों पर खर्च करते हैं. यह फाउंडेशन शिक्षा, समाज, ग्रामीण विकास और स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम करती है.

बता दें मुकेश अंबानी देश के अलावा एशिया के सबसे बड़े अमीर व्यक्ति हैं. यही नहीं पिछले साल सितंबर में जारी बार्कलेज हुरुन इंडिया रिच लिस्ट में भी मुकेश अंबानी टॉप पर थे. इस लिस्ट में उनकी संपत्ति 3.71 लाख करोड़ रुपए बताई गई थी.

Published by Chanchala Verma on 13 Feb 2019

Related Articles

Latest Articles