शौर्य और निडर व्यक्तित्व के धनी थे शिवाजी महाराज, कभी विदेशी शासक के सामने नहीं झुकाया सिर

Get Daily Updates In Email

मराठा साम्राज्य के शाषक रहे शिवाजी महाराज का जन्म 19 फरवरी 1630 में शिवनेरी दुर्ग में हुआ था. शाहजी भोंसले और जीजाबाई के पुत्र शिवाजी महाराज का शिवनेरी का दुर्ग पूना (पुणे) से उत्तर की तरफ़ जुन्नर नगर के पास था. उनका बचपन उनकी माता जिजाऊ मां साहेब के मार्गदर्शन में बीता. वह सभी कलाओं में माहिर थे, उन्होंने बचपन में राजनीति एवं युद्ध की शिक्षा ली थी.

View this post on Instagram

महाराज तुम्ही इतके श्रेष्ठ आहात की खूप मोह वाटतो तुमचा.तुमचे आचार – विचार,तुमची विचार करण्याची क्षमता एवढी मोठी होती की तुम्हाला जाऊन साडे तीनशे वर्षे झाले तरीही तुमच्या विचारांनी तुम्ही आमच्यात जिवंत असल्यासारखे वाटता.अभिमान आहे मला मी मराठी असल्याचा 💪🚩 Follow [email protected] जय शिवराय 🚩 Like – comment – share – – ⛳ दैवत छत्रपती ⛳ महाराजांचे उत्तम स्टेटस असणारे केवळ एकमेव पेज. अशाच अप्रतिम फोटोंसाठी नक्की follow करा 👌 ●⏩⏩⏩ @faktmaharaj ⏪⏪⏪● ●⏩⏩⏩ @faktmaharaj ⏪⏪⏪● ●⏩⏩⏩ @faktmaharaj ⏪⏪⏪● •••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••• मराठी आहात ना . . . 😎 महाराष्ट्रीयन आहात ना . . . 😎 मराठी असल्याचा अभिमान बाळगता ना 😍 जातीपेक्षा मातीला आणि मातीपेक्षा जास्त , छत्रपतींना मानता ना तुम्ही . . . 🌺 मग गर्वाने follow करा ⤵️⤵️ ● @faktmaharaj आपल्या सेवेसाठी आम्ही सदैव तत्पर आहोत 🙏 🎞️🎞️🎞️🎞️🎞️🎞️🎞️🎞️🎞️🎞️🎞️🎞️🎞️🎞️🎞️ ➡️ आवडल्यास नक्की 😍नक्की बरं का ! 😅 ➡️ Like, comment ,share करा👌 ➡️【मराठी माणसाच्या हक्काचं page )】☆☆☆ @mard_maratha007 @shivkanyakanchan @shivaji_maharaj_bhakat @single_sakhya @sambhaji_maharaj @photo_marathi_status @swag_marathi @swarajya_rakshak_sambhaji @amolrkolhe @indian__boys__n__girls @instagram @shivbhakt.umesh @ganpati_bappa_morya__ @akshaykumar @chatrapatii_shivajii_maharaje @ek_maratha_lakh_maratha___ @maze_man_tuze_zale @_patl_tr_ghya @marathi__shoutout @mazya_rajacha_maharashtra @marathimemes420_official @vishwasnangarepatil @babaraje_deshmukh_sarkar_ @incredible_maharashtrian @maharashtra_status_ @durg_vede @tv9marathi @maharashtra_forts #shivajimaharaj #maratha #jaishivray⛳ #maharashtra #sahyadri_clickers #shivaji #marathaempire #durg_naad #Raigad #maharashtradesha #maharashtra_desha #instamaharashtra #jayostute_maharashtra #maharashtra_forts #ganpatibappamorya #shiva #durga #indiangod #mahakaal #mahadev #jaishivaji #hindu #hindutemple #marathistatus #marathifc #marathibana #marathimulga #marathitroll

A post shared by 🚩 फक्त महाराज 7.5k (@faktmaharaj) on

शिवाजी बचपन से ही पराक्रमी और निडर थे. एक बार किसी अवसर पर शिवाजी को उनके पिताजी बीजापुर के सुलतान के दरबार में ले गए. वहां शाहजी ने तीन बार झुक कर सुल्तान को सलाम किया और शिवाजी से भी ऐसा ही करने को कहा. लेकिन, शिवाजी अपना सिर ऊपर उठाए सीधे खड़े रहे. एक विदेशी शासक के सामने वह किसी भी कीमत पर सिर झुकाने को तैयार नहीं हुए. इतना ही नहीं वह शान से चलते हुए दरबार से वापस चले गए. इसीलिए छत्रपति शिवाजी महाराज को एक कुशल और प्रबुद्ध सम्राट के रूप में जाना जाता है.

View this post on Instagram

#shivajimaharaj #jayanthi #amangal

A post shared by SHIVA.YADAV (@thalwar_shivayadav) on

वहीं एक और किस्सा आता है जिससे उनकी निडरता का परिचय होता है. एक बार शिवाजी के समक्ष उनके सैनिक किसी गांव के मुखिया को पकड़ कर लाए. मुखिया बड़ा ही रसूखदार व्यक्ति था. लेकिन उसे शिवाजी के सामने एक विधवा की इज्जत लूटने के आरोप में उनके समक्ष पेश किया गया. उस समय शिवाजी मात्र चौदह साल के थे. शिवाजी बड़े ही न्यायप्रिय और महिलाओं के प्रति असीम सम्मान रखने वाले व्यक्ति थे.

View this post on Instagram

“जय जिजामाता जय शिवराय “ छत्रपती शिवाजी महाराज यांचे उत्तम प्रतीचे युव्ही फोटो फ्रेम आणि कॅनव्हास फोटो फ्रेम उपलब्ध आहे. स्पेसिफेशन- •‘१२x१५’ इंच व ‘१८x२३’ इंच फोटोची साईझ मध्ये अंन्टीक काॅपर,राॅयल गोल्ड, ब्राऊन गोल्ड या मध्ये उपलब्ध. •१ इंच जाडीची फ्रेम •वास्तुशांती,लग्न समारंभ इ. भेटवस्तु साठी भावनारा व परवडनारा उत्तम पर्याय. •त्वरा करा! बल्क ऑर्डर साठी विशेष डिस्काउंट! इंडिया होम्स एन क्राफ्टस माहीतीसाठी संपर्क-73300-73300 #art #canvas #maharashtra #india #shivajimaharaj #history #warrior #artsandcraft #india #gifts #shivajimaharaj #shivajiraje #पुणे #महाराष्ट्र #महाराज #स्वराज्य #painting

A post shared by India Homes N Crafts (@ig_india_hnc) on

उन्होंने तत्काल अपना निर्णय सुनाया और कहा कि, ‘इसके दोनों हाथ और पैर काट दो ऐसे जघन्य अपराध के लिए इससे कम कोई सजा नहीं हो सकती.’ छत्रपति शिवाजी महाराज जीवनपर्यंत साहसिक कार्य करते रहे और हमेशा गरीब, बेसहारा लोगों को प्रेम और सम्मान देते रहें. ऐसे ही एक बार शिवाजी के यहां एक चीता आया जिससे पूरे गांव वालो में आतंक फ़ैल गया.

View this post on Instagram

धाडस असं करावं जे जमनार नाही कुण्या दुसऱ्याला.!! अन इतिहास असा करावा कि ३३ कोटी देवांची फौज झुकावी मुजऱ्याला… आराध्य दैवत राजा शिवछत्रपती..!! शिवराय असे शक्तीदाता ..🙏🏻🙏🏻🚩🚩 . . . ➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖ #maratha #marathi #maharashtra #jayshivray #shivajimaharaj #sambhajimaharaj #greatmaratha #mumbai #pune #satara #kolhapur #sangli #solapur #akola #nanded #nashik #nagpur #sahyadri #sahyadri_clickers #raje #maharaj ➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖ DM for Paid Promotions असाच पोस्ट साठी नक्की फॉलाे करा @the_royal_maratha लाईक करा आणि जाेरदार कमेंटस करा

A post shared by रॉयल मराठा👑 (@the_royal_maratha) on

लेकिन उसी समय शिवाजी ने अकेले जाकर उस चीते का सामना किया और उसे मार गिराया. इस तरह शिवाजी ने अपनी बहादुरी का परिचय दिया. शिवाजी ने बढ़े ही साहसिक ढंग से अपने दुश्मनों का सामना किया और कभी भी अपने साम्राज्य को दुश्मनों के हाथों नहीं लगने दिया. उन्होंने जीवन पर्यन्त अपने देश और साम्राज्य की सेवा की और बहुत सम्मान पाया था.

Published by Yash Sharma on 19 Feb 2019

Related Articles

Latest Articles