किसानों के खाते में पहुंची 2000 रुपए की पहली किस्त, जानिए क्या है पीएम किसान योजना?

Get Daily Updates In Email

देश की मोदी सरकार शुरू से ही किसानों के लिए समय-समय पर एक से बढ़कर-बढ़कर एक योजनाएं लेकर आती रही हैं. जहां एक तरफ मोदी सरकार अपनी योजना प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना से करीब एक लाख करोड़ रुपए खर्च कर रही है. वहीं दूसरी तरफ एक बार फिर सरकार ने किसानों को ध्यान में रखते हुए एक और बड़ी योजना हाल ही शुरू कर दी है. इस योजना के तहत सरकार साल भर में करीब-करीब 75,000 करोड़ रुपए किसानों के लिए खर्च करेगी.

courtesy

दरअसल हाल ही में देश के प्रधानमंत्री नरेंद मोदी ने अपनी महात्वाकांक्षी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना को लॉन्च कर दिया है. खास बात तो यह है कि, पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम के लांच होते ही किसानों के खाते में सीधे 2000 हजार की पहली क़िस्त भी पहुंच गई है. एक लाभार्थी किसान ने अपने मोबाईल पर आए मोदी सरकार की तरफ से मैसेज का स्क्रीन शॉट सोशल मीडिया पर शेयर किया है. खास बात तो यह भी है कि, पहली बार किसी योजना के लॉन्च होते ही लाभार्थी के अकाउंट में पैसे पहुंचे हैं.

क्या है प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना?

courtesy

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत किसानों के अंतर्गत छोटे और सीमांत किसानों को 6,000 रुपए सलाना दिए जाएंगे. इस योजना का लाभ उन किसानों को मिलेगा, जिनके पास 2 हेक्टेयर तक की भूमि का स्वामित्व होगा. किसान को हर साल 6,000 रुपए दिए जाएंगे. यह राशि किसान को तीन किश्त में मिलेगी. यह राशि डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से सीधे लाभार्थियों के खाते में पहुंचाई जाएगी. इस योजना की घोषणा वित्त वर्ष 2019-20 के लिए 1 फरवरी को पेश किए गए अंतरिम बजट में की गई थी.

पहली क़िस्त जारी

courtesy

इस योजना की पहली किश्त भी जारी हो गई है. इस योजना के अंतर्गत पहली किश्त 1.01 करोड़ किसानों के खाते में 2000 हजार रुपए की पहली क़िस्त पहुंचा दी गई है और जो किसान इस क़िस्त में छूट गए हैं उन्हें जल्द ही पहली किश्त पहुंचाई जाएगी. इस बात की जानकारी खुद पीएम मोदी ने भी दी है. दरअसल पीएम ने अपने ट्विटर अकाउंट से इस बात की जानकारी दी है.

जानकारी देते हुए मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा है, आज 1 करोड़ 1 लाख किसानों के बैंक खातों में #PMKisan की पहली किस्त ट्रांसफर करने का सौभाग्य मिला. यह मेरे लिए बहुत भावुक क्षण था. हमारे अन्नदाता देशवासियों का पेट भरने के लिए दिन-रात परिश्रम करते हैं. उनके कल्याण के लिए काम करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है.

Published by Lakhan Sen on 25 Feb 2019

Related Articles

Latest Articles