मोदी समेत सिर्फ सात लोगों को ही थी एयर स्ट्राइक की जानकारी, कार्रवाई होने तक जागते रहे पीएम

Get Daily Updates In Email

भारतीय वायुसेना ने पीओके स्थित जैश के आतंकी कैम्पों पर एयर स्ट्राइक कर अपनी ताकत दिखा दी. पुलावामा आतंकी हमले के 13वें दिन इस ऑपरेशन को अंजाम दिया गया. इन 12 दिनों में पूरी प्लानिंग की गई. कहां हवाई हमला करना है कहां ज्यादा से ज्यादा आतंकियों को मार गिराया जा सकता है. इसकी पूरी जानकारी हासिल कर प्लानिंग की गई. पूरे ऑपरेशन की जानकारी केवल 7 लोगों को ही थी, इन्हीं को पता था कि किस समय कहां हमला होगा.

ये सात लोगो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल, तीनों सेना प्रमुख, खुफिया एजेंसियों  रॉ और आईबी के प्रमुख शामिल थे. भारत ने पुलवामा हमले के 12 दिन बाद मंगलवार को सुबह 3.40 और 3.53 के बीच जैश ए मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर हमला किया. 18 फरवरी को एयरस्ट्राइक की मंजूरी पीएम मोदी ने दी थी. इंटेलीजेंस ऑफिसर ने एचटी को बताया कि इस हमले की जानकारी पीएम मोदी, अजित डोभाल, तीन सर्विस चीफ और रॉ और इंटेलीजेंसी ब्यूरो के हेड को इसकी जानकारी थी.

फाइटर जेट्स ने 26 फरवरी की रात 1:30 बजे टेक ऑफ किया. मिराज ने ग्‍वालियर एयरबेस से उड़ान भरी तो सुखोई ने अलग-अलग बेसेज से टेक ऑफ किया. सभी जेट्स ने सुरक्षित अपनी सीमा में सुबह चार बजे सफल लैंडिंग की. इसके तुरंत बाद रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को ऑपरेशन के बारे बताया गया था.

सरकार के सूत्रों का कहना है कि भारत की वायुसेना ने मंगलवार को बालाकोट में हवाई हमले कर जैश-ए-मुहम्‍मद के कैंप को नष्‍ट कर दिया. बालाकोट का प्रयोग आतंक की पौधशाला के निर्माण के लिए किया जा रहा था. इसके लिए उनको प्रशिक्षण पाकिस्‍तान का पूर्व अधिकारी दे रहा है. अन्य सूत्र ने कहा कि 16 सुखोई लड़ाकू विमान 12 से ज्यादा मिराज 2000 लड़ाकू विमानों के पीछे थे. जिन्होंने नियंत्रण रेखा पार कई आतंकी शिविरों को निशाना बनाया. भारत ने करीब पांच दशकों में पहली बार सीमा पार कर हवाई हमले किए हैं.

View this post on Instagram

India is in safe hands #narendramodi

A post shared by NaMoleague (@namoleague) on

भारतीय वायुसेना द्वारा किए गए हमले की योजना बनाने में 200 घंटे से ज्यादा का वक्त लगा है. बता दें कि कार्रवाई खत्म होने तक पीएम मोदी जाग रहे थे. करीब साढ़े चार बजे उन्होंने सफल एयर स्ट्राइक करने वाली टीम को बधाई भी दी.

Published by Yash Sharma on 27 Feb 2019

Related Articles

Latest Articles