60 घंटे बाद अपने वतन लौटे अभिनंदन, परिवार समेत देशभर के लोगों ने किया जोरदार स्वागत

Get Daily Updates In Email

भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान फिर से अपने वतन लौटे आए हैं. कल दिनभर के इंतजार के बाद अभिनंदन पाकिस्तान से स्वदेश लौटे. विंग कमांडर अभिनंदन रात 9 बजकर 10 मिनट पर पाकिस्तान की ओर वाघा चेकपोस्ट पर दिखे और उनके साथ पाकिस्तानी रेंजर, इस्लामाबाद में उच्चायोग में भारतीय एयर अताशे मौजूद थे.

इस दौरान वह गहरे रंग का कोट और खाकी रंग की पैंट पहने हुए थे. गर्व से सिर ऊंचा किए विंग कमांडर अभिनंदन ने पाकिस्तान से गेट पार करके भारत में प्रवेश किया. अमृतसर के उपायुक्त शिव दुलार सिंह ढिल्लों ने बताया कि बहादुर पायलट अपने देश लौटकर खुश है. यह पूछे जाने पर कि अभिनंदन ने स्वदेश लौटने पर अधिकारियों से क्या कहा. इस पर उपायुक्त ने कहा कि वह पहले मुस्कुराए और बोले, ‘मैं अपने देश वापस लौटकर खुश हूं.’

पूरे देश में अभिनंदन की रिहाई को लेकर खुशी की लहर है. अभिनंदन की 60 घंटे में हुई रिहाई जो कि सराहनीय है. बॉर्डर पर विंग कमांडर अभिनंदन को भारतीय अधिकारियों को सौंपा गया. पाकिस्तान की ओर से जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है कि अभिनंदन वर्तमान को पूरी मर्यादा के साथ कस्टडी में रखा गया था और सभी अंतरराष्ट्रीय कानूनों का पालन किया गया.

इसके बाद विंग कमांडर को अटारी सीमा से वायुसेना के वाहन में अमृतसर ले जाया गया. इस दौरान पंजाब पुलिस की गाड़ियां उनके वाहन के साथ चल रही थीं. इसके बाद वर्धमान को हवाई मार्ग से दिल्ली लाया गया. इसके बाद उन्हें सेना के अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी शारीरिक जांच की जाएगी.

जब उन्होंने भारत में प्रवेश किया तब अटारी पर यह नजारा देख लगा जैसे आज देश के लिए होली भी है और दिवाली भी. अटारी सीमा पर एक किलोमीटर के क्षेत्र में लोग इकट्ठा थे. लोगों का उत्साह इतना था कि नारों की गूंज पाकिस्तान के वाघा तक गूंजने लगी. ‘वंदे मातरम्’ और ‘भारत माता की जय’ से अटारी सीमा और पाकिस्तान की वाघा सीमा गूंज रही थी. बता दें कि 27 फरवरी को अभिनंदन पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में प्रवेश कर गए थे. जिसके बाद उन्हें वहां बंदी बना लिया गया था.

Published by Yash Sharma on 02 Mar 2019

Related Articles

Latest Articles