स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 : इंदौर ने स्वच्छता की लगाई हैट्रिक, भोपाल बना देश की सबसे स्वच्छ राजधानी

Get Daily Updates In Email

स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 के परिणाम बुधवार को घोषित किए गए. नई दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद टॉप 10 में स्थान बनाने वाले शहरों को अवार्ड दिया. इस दौरान केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने मध्यप्रदेश के तीन शहरों भोपाल, इंदौर और उज्जैन के महापौर और आयुक्त को निमंत्रण भेजा था. जिसमें से इंदौर शहर ने एक बार फिर से स्वच्छता में बाजी मार ली है.

बता दें देश के कुल 4237 शहरों में स्वच्छ सर्वेक्षण-2019 कराया गया था. 28 दिन तक इन शहरों में ओडीएफ, स्टार रेटिंग और स्वच्छ सर्वेक्षण के लिए कार्वी की टीमों ने निरीक्षण किया. इसमें शहर के सार्वजनिक स्थलों की सफाई, सामुदायिक, व्यक्तिगत शौचालय, डोर-टू-डोर कलेक्शन, सॉलिड वेस्ट के साथ जनता सफाई से कितनी संतुष्ट है, इसका जनता से फीडबैक लिया गया. प्रदेश स्तर पर स्वच्छता के मामले में नगर निकायों को अवार्ड देने के लिए चुना गया है.

View this post on Instagram

This is the third time Indore has won the title of "Cleanest City of India". congratulations to all the Indoris Hattrick लग गई 😍 . Indore has done a lot such as gaining the title of open defecation free plus, achieving 100 percent source segregation and converting its waste into bio CNG effectively. With such achievements in hand, that Indore has retained its position on top again in the swach sarvekshan 2019 #swachsarvekshan2019 Follow Repost @indorigram_ & Use #indorigram #indore #indorediaries #indoregram #indoreader #india #indorecity #indori #indorefashion #indore_city #indorepost #photography #indorefoodexplorer #mumbai #instagood #instagram #indorefood #trending #fashion #indorelove

A post shared by Krishnakant Gurjar kk (@k2_gurjar) on

इससे पहले समारोह के लिए इंदौर से महापौर मालिनी गौड़, निगमायुक्त आशीष सिंह, नेता प्रतिपक्ष फौजिया शेख अलीम, कंसल्टेंट असद वारसी दिल्ली पहुंच चुके थे. करीब 70 अवॉर्ड केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय द्वारा स्वच्छता के अलग-अलग पैमानों पर दिए गए. इंदौर के अलावा मैसूर और एक अन्य शहर को फाइव स्टार रेटिंग मिलने की बात कही जा रही थी.

स्वच्छता सर्वेक्षण के परिणामों में इंदौर को तीसरी बार देश का सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया है. दिल्ली के विज्ञान भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इंदौर की महापौर मालिनी गौड, नेता प्रतिपक्ष फौजिया अलीम और नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह को यह पुरस्कार सौपा गया. इंदौर को समारोह में तीन अवार्ड मिलना तय था. इनमें एक अवार्ड रैंकिंग, दूसरा फाइव स्टार रेटिंग और तीसरा अवार्ड इनोवेटिव श्रेणी के आयोजन के लिए दिया गया.

वहीं इसके लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इंदौर नगर को बधाई दी. वहीं 10 लाख की आबादी वाली कैटेगरी में उज्जैन को सबसे स्वच्छ शहर चुना गया. इंदौर ने सफाई की हैट्रिक लगाई है. वह इस साल लगातार तीसरी बार स्वच्छता सर्वे में नंबर वन रहा. भोपाल को देश की स्वच्छ राजधानी का प्रथम पुरस्कार मिला. भोपाल की ओऱ से महापौर आलोक शर्मा ने ये पुरस्कार लिया.

Published by Yash Sharma on 06 Mar 2019

Related Articles

Latest Articles