बर्थडे : 30 की उम्र में निभाया था अनुपम ने 60 साल के बूढ़े का किरदार, लगातार जीते 8 फिल्मफेयर

Get Daily Updates In Email

बॉलीवुड के जाने-माने अभिनेता अनुपम खेर का जन्म 7 मार्च 1955 को शिमला में हुआ था. इनके पिता पुष्कर नाथ एक कश्मीरी पंडित थे. वह पेशे से क्लर्क थे. शिमला में प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त करने के बाद राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय से स्नातक पूरी की. अनुपम खेर के घरवालों ने भीसाल 1979 में उनकी शादी मधुमति नाम की लड़की से करवा दी. लेकिन कहा जाता है कि दोनों अपनी शादी से खुश नहीं थे. यही वजह थी क‍ि बाद में दोनों का तलाक हो गया और अनुपम ने 1985 में क‍िरण खेर से शादी कर ली.

अपने फिल्मी करियर की शुरुआत अनुपम खेर ने 1982 में ‘आगमन’ नामक फिल्म से की थी. लेकिन उन्हें असली पहचान साल 1984 में आई फिल्म ‘सारांश’ से मिली. इसी फिल्म के लिए उन्हें 1984 में बेस्ट एक्टर का और बेस्ट कॉमेडी एक्टर के लिए अनुपम खेर को 5 फिल्मफेयर अवॉर्ड्स मिल चुके हैं. इतना ही नहीं अनुपम खेर के नाम 8 बार बैक टू बैक फिल्मफेयर अवॉर्ड जीतने का भी रिकॉर्ड है.

अनुपम को ‘डैडी’ और ‘मैंने गांधी को नहीं मारा’ फिल्मों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिल चुका है. नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से पढ़ाई कर चुके अनुपम खेर वहां के चेयरमैन भी रह चुके हैं. शायद इसकी जानकारी शायद ही किसी को हो लेकिन अनुपम ने 2002 में फिल्म ओम जय जगदीश से निर्देशन के क्षेत्र में डेब्यू किया था.

View this post on Instagram

“Be happy. It drives people crazy.”:)

A post shared by Anupam Kher (@anupampkher) on

लगभग 500 फिल्में और 100 से ज्यादा नाटकों में अभिनय कर चुके अनुपम खेर की खासियत यह है कि वह हर फिल्म में एक अलग किरदार के साथ दिखते हैं. ज्यादातर चरित्र भूमिकाएं निभाने वाले अनुपम, खूबसूरत कॉमेडी भी कर सकते हैं. 1984 में रिलीज हुई चर्चित और सराही गयी फिल्म ‘सारांश’ में अनुपम खेर ने एक 60 साल के बूढ़े व्यक्ति का किरदार निभाया था. अनुपम खेर की उस समय उम्र 30 साल थी.

इस फिल्म के बाद अनुपम अलग-अलग तरह के रोल में दिखते रहे. ‘कर्मा’, ‘तेजाब’, ‘राम लखन’, ‘दिल’, ‘सौदागर’, ‘1942 ए लव स्टोरी’, ‘रूप की रानी चोरों का राजा’ और ‘हम आपके हैं कौन’ जैसी सफल फिल्मों में अनुपम खेर की भूमिका अलग-अलग रही है.

Published by Yash Sharma on 07 Mar 2019

Related Articles

Latest Articles