गूगल के मौजूदा ब्राउज़र में हुई गड़बड़ी, यूज़र्स को दी क्रोम का नया वर्जन अपडेट करने की दी सलाह

Get Daily Updates In Email

दुनिया की सबसे लोकप्रिय सर्च इंजन और ब्राउजर डेवलपर कंपनी गूगल ने अपने ब्राउज़र गूगल क्रोम को अपडेट करने के लिए चेतावनी जारी कर दी है. गूगल ने अपने यूज़र्स को चेतावनी देते हुए कहा है कि गूगल क्रोम के मौजूदा वर्जन में साइबर अटैक होने की संभावना हो सकती है इसलिए यूजर्स को आगाह किया है.

गूगल ने जारी किए स्टेटमेंट में कहा है कि आप अपने गूगल क्रोम को लेटेस्ट वर्जन 72.0.3626.12 में अपडेट कर लें. गूगल क्रोम के लेटेस्ट वर्जन 72.0.3626.12 को पिछले सप्ताह रोल आउट किया गया है. इस लेटेस्ट वर्जन को रिलीज करते हुए गूगल ने यह नहीं बताया था कि इसमें क्या फिक्स किया गया है. बाद में गूगल ने बताया कि CVE-2019-5786 नाम की गड़बड़ी को फिक्स करके नया वर्जन रोलआउट किया गया है.

वहीं गूगल ने अपने ब्लॉग पोस्ट में कहा था कि CVE-2019-5786 को फिक्स करने के बाद गूगल क्रोम का लेटेस्ट वर्जन 1 मार्च को रोल आउट किया गया है. इसके अलावा कंपनी ने यह भी कहा है कि यूजर्स पहले चेक कर लें कि उनके गूगल क्रोम का लेटेस्ट वर्जन 72.0.3626.12 अपडेट हुआ है कि नहीं क्योंकि हमने गूगल क्रोम को ऑटो अपडेट के साथ रोल आउट किया है. ऐसे में अगर किसी यूजर का क्रोम अपडेट नहीं हुआ है तो उसे जल्द से जल्द अपडेट कर ले.

डेस्कटॉप इंजीनियर जस्टिन शू ने कई बार ट्विट करके यह जानकारी भी दी थी कि यह बग पिछले बग से काफी अलग है. इसमें बग गूगल क्रोम के कोड को टारगेट करता है, जिसके बाद यूजर्स को ब्राउज़र बंद करने के बाद फिर चालू करना पड़ेगा. कई यूजर्स के लिए अपडेट ऑटोमेटिक होता है लेकिन उसे रिस्टार्ट करना मैनुअल एक्शन होता है.

इस बग को सबसे पहले गूगल थ्रेट एनालिसिस ग्रुप मेंबर ने 27 फरवरी को स्पॉट किया था. यह ब्राउजर की API जिसे फाइल रिडर कहते हैं उसे प्रभावित कर रहा था. इस फीचर के प्रभावित होने से लोगों की निजी और अहम जानकारियां प्रभावित हो सकती है. ऐसे में सभी यूज़र्स को अपने क्रोम ब्राउज़र को जल्द अपडेट करना चाहिए.

Published by Yash Sharma on 09 Mar 2019

Related Articles

Latest Articles