सादगी, सरलता और महान व्यक्तित्व के धनी थे मनोहर पर्रिकर, पहले IITian जो बने मुख्यमंत्री

Get Daily Updates In Email

मनोहर पर्रिकर गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री थे तथा भारत के रक्षा मंत्री भी रहे. साथ ही वे उत्तर प्रदेश से राज्य सभा सांसद भी रहे. उन्होंने आई.आई.टी. मुम्बई से स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण की थी. भारत के किसी राज्य के मुख्यमंत्री बनने वाले वह पहले व्यक्ति थे जिन्होंने आई.आई.टी. से स्नातक किया था. उन्हें सन 2001 में आई.आई.टी. मुम्बई द्वारा विशिष्ट भूतपूर्व छात्र की उपाधि भी प्रदान की गई.

सरल और सहज स्वभाव के धनी मनोहर परिकर पहली मुलाकात में ही लोगों के दिलों में अपनी जगह बना लेते थे. उनका बोलने का अंदाज भी लोगों को खूब भाता था. एक सर्वे में पर्रिकर के कार्यकाल में गोवा लगातार तीन साल तक भारत का सर्वश्रेष्ठ शासित प्रदेश बताया गया था. इसी वजह से पर्रिकर को गोवा में मिस्टर क्लीन के नाम से भी जाना जाता था. 24 अक्टूबर 2000 को उन्होंने गोवा की कमान संभाली थी. लेकिन उनकी सरकार 27 फरवरी 2002 तक ही चली.

हालांकि इसके बाद 5 जून 2002 से 2005 तक वे दोबारा सीएम रहे. इसके बाद वे 2012 से 2014 तक और 14 मार्च 2017 से 17 मार्च 2019 तक चौथी बार मुख्यमंत्री रहे. मनोहर पर्रिकर ने ज्यादातर पब्लिक ट्रांसपोर्ट का ही इस्तेमाल किया. इसके अलावा वे फ्लाइट में भी इकोनॉमी क्लास में ही ट्रैवल करते थे. साथ ही वे मोबाइल का बिल भी अपने पर्सनल खर्चे से ही भरा करते थे.

वहीं, बतौर सीएम भी वे विधानसभा सरकारी गाड़ी के बजाय स्कूटर का इस्तेमाल करते थे. गोवा का सीएम होने के कई साल तक उन्होंने सीएम हाउस का भी इस्तेमाल नहीं किया. मनोहर पर्रिकर रोजाना 16 से 18 घंटे तक काम करते थे. टेलिकॉम मिनिस्टर रवि शंकर प्रसाद ने एक इंटरव्यू में बताया था कि सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान मनोहर पर्रिकर रात भर जगकर अभियान की पूरी जानकारी लेते रहे थे.

View this post on Instagram

गोवा के मुख्यमंत्री श्री #ManoharParrikar जी के निधन का अत्यंत दुःखद समाचार मिला। वे ईमानदारी और सादगी की प्रतिमूर्ति थे, उनके जाने से देश ने एक महान नेता खो दिया है। उनकी आत्मिक शांति एवं उनके परिजनों को इस दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ।

A post shared by Shashikant Kaushik Smk (@smk_shashikant_) on

बिना लालबत्ती लगी सिंपल सी कार में आगे की सीट पर बैठा शख्स मुख्यमंत्री के प्रचलित तरीकों पर फिट भी तो नहीं बैठता था. हाफ स्लीव शर्ट और पैरों में सैंडल डाले पर्रिकर संसद भी पहुंच जाया करते थे. वे अक्सर सड़क किनारे के स्टार या फिर होटल में बैठ पाव भाजी और मिर्ची पकौड़ा खाते नजर आ जाते थे.

Published by Yash Sharma on 18 Mar 2019

Related Articles

Latest Articles