गाड़ी ,बंगला, पैसा से भी दीया को नहीं मिली मन की शांति, मानती हैं मैडिटेशन को लाइफ चेंजर

Get Daily Updates In Email

बॉलीवुड एक्ट्रेस दीया मिर्ज़ा इंडस्ट्री की फेमस एक्ट्रेसस में से एक हैं. दीया मिर्ज़ा को साल 2000 में ‘मिस एशिया पैसिफिक’ का ख़िताब मिला था. बॉलीवुड की कई हिट फिल्मो में अभिनय कर चुकी दीया मिर्जा ने हाल ही में एक इंटरव्यू में कहा है कि, गाड़ी ,बंगला, पैसा, शोहरत से भी मन को शांति नहीं मिली है.

दरअसल बुधवार को महिलाओं की संस्था अभ्युदय एनुअल जनरल मीटिंग में दीया मिर्ज़ा  ने कहा कि, गाड़ी ,बंगला, पैसा, शोहरत से भी मन को शांति नहीं  मिल रही थी. इसके बाद मैंने मैडिटेशन शुरू किया तो मेरी पूरी लाइफ ही बदल गई. इसके अलावा दीया ने कहा कि लोंग वेस्टर्न लाइफ से कचरा जनरेट कर रहे हैं.

बता दें कि आखिरी बार दिया फिल्म ‘संजू’ में नजर आई थीं. संजय  दत्त की बायोपिक पर बनी फिल्म संजू में मान्यता दत्त का रोल निभाते हुए देखा गया था. फिल्म में उनके काम की काफी तारीफ भी हुई थी.

आपको बता दें कि ‘फेमिना मिस इंडिया 2000’ कांटेस्ट में दीया सेकंड रनरअप रही थीं और इसके बाद दीया मिर्ज़ा ने ‘मिस एशिया पैसिफिक 2000’ में हिस्सा लिया और इस कॉन्टेस्ट में विनर दीया मिर्ज़ा रहीं. भारत में 27 साल के लम्बे अरसे बाद किसी ने ‘मिस एशिया पैसिफिक’ का ख़िताब जीता था.

दिया  ने साल 2011 में आई फिल्म ‘रहना है तेरे दिल में’ के साथ बॉलीवुड में डेब्यू किया था. फिल्मों में करियर बनाने से पहले दीया ने नीरज मल्टीमीडिया स्टूडियो नाम के मीडिया फर्म में मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव का काम किया है, जहां उन्हें 5000 रुपए सैलरी के तौर पर मिलते थे. दीया सामाजिक कार्य भी करती हैं और इसी योगदान के लिए उन्हें 2012 में आईफा ने उन्हें ग्रीन अवॉर्ड से सम्मानित किया था. ख़बरों की माने तो दिया जल्द ही एक बड़े प्रोजेक्ट में नजर आ सकती हैं. हालांकि उन्होंने इस बात की अभी कोई पुष्टि नहीं की है.

Published by Lakhan Sen on 29 Mar 2019

Related Articles

Latest Articles