208 किलो के शस्त्रों का भार लिए युद्ध करते थे महाराणा प्रताप, बादशाह अकबर भी था उनका प्रशंसक

Get Daily Updates In Email

महाराणा प्रताप मेवाड़ के महान हिंदू शासक थे. सोलहवीं शताब्दी के राजपूत शासकों में महाराणा प्रताप ऐसे शासक थे, जो अकबर को लगातार टक्कर देते रहे. महाराणा प्रताप का जन्म राजस्थान के कुम्भलगढ़ में 9 मई, 1540 ई. को हुआ था. उन्होंने अपनी मां से ही युद्ध कौशल के बारे में जाना. महाराणा प्रताप और मुगल बादशाह अकबर के बीच लड़ा गया हल्दीघाटी का युद्ध काफी चर्चित है.

महाराणा प्रताप का भाला 81 किलो वजन का था और उनके छाती का कवच 72 किलो का था. उनके भाला, कवच, ढाल और साथ में दो तलवारों का वजन मिलाकर 208 किलो था. बता दें हल्दी घाटी के युद्ध में महाराणा प्रताप के पास सिर्फ 20000 सैनिक थे और अकबर के पास 85000 सैनिक. इसके बावजूद महाराणा प्रताप ने हार नहीं मानी और स्वतंत्रता के लिए संघर्ष करते रहे.

महाराणा प्रताप ने अपने जीवन में कुल 11 शादियां की थीं. कहा जाता है कि उन्होंने यह सभी शादियां राजनैतिक कारणों से की थीं. महाराणा प्रताप को बचपन में कीका के नाम से पुकारा जाता था. महाराणा प्रताप का सबसे प्रिय घोड़ा चेतक था. महाराणा प्रताप की तरह ही उनका घोड़ा चेतक भी काफी बहादुर था.

मेवाड़ को बचाने के लिए आखिरी सांस तक लड़ने वाले महाराणा प्रताप ने 6 बार अकबर को बादशाह मानकर मेवाड़ में राज चलाने की पेशकश ठुकराई. उन्हें किसी ‘विदेशी’ का राज स्वीकार नहीं था. हल्दीघाटी की लड़ाई में उनका वफादार घोड़ा चेतक गंभीर रूप से जख्मी होने की वजह से मारा गया. लेकिन इस शहादत ने उसे खासी शोहरत दिलाई.

View this post on Instagram

#maharanapratap #jaipurite #jaipuri

A post shared by Promotion Jaipur (@jaipurpromotion) on

महाराणा प्रताप के 17 बेटे और 5 बेटियां थीं. महारानी अजाब्दे से पैदा हुए अमर सिंह उनके उत्तराधिकारी बने. प्रताप का वजन 110 किलो  और हाईट 7 फीट 5 इंच थी. महाराणा प्रताप की तलवार कवच आदि सामान उदयपुर राज घराने के संग्रहालय में आज भी सुरक्षित है. प्रताप ने मायरा की गुफा में घास की रोटी खाकर दिन गुजारे थे. महाराणा प्रताप हमेशा दो तलवार रखते थे एक अपने लिए और दूसरी निहत्थे दुश्मन के लिए. अकबर ने एक बार कहा था कि अगर महाराणा प्रताप और जयमल मेड़तिया मेरे साथ होते तो हम विश्व विजेता बन जाते.

Published by Yash Sharma on 09 May 2019

Related Articles

Latest Articles