आरबीआई ने अपने ग्राहकों को दिया बड़ा तोहफा, बढ़ाया आरटीजीएस के जरिए पैसे भेजने का समय

Get Daily Updates In Email

ऑनलाइन ट्रांजेक्शन का चलन आजकल बेहद तेजी से बढ़ रहा है. जबकि एक समय था जब गिने चुने लोग ही ऑनलाइन ट्रांजेक्शन को महत्व देना पसंद करते थे. इतना ही नहीं एक समय ऐसा भी था जब चुनिंदा लोगों के पास ही डेबिट या क्रेडिट कार्ड होता था. लेकिन अब तो समय डेबिट या क्रेडिट कार्ड से भी आगे निकल गया है और अब लोग मोबाइल का उपयोग कर ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करने लगे हैं.

View this post on Instagram

आज से क्रिकेट के दीवानों का इंतजार खत्म होने जा रहा है. ICC World cup 2019 का आगाज हो चुका है. क्रिकेट वर्ल्ड कप के 12वें सीजन की ओपनिंग हो चुकी है. गूगल ने इस क्रिकेट के त्यौहार पर एक खास डूडल बनाया है.. . . . . @hs.news #rbi #businessnews #breakingnews #newsupdate #followme #followback #likeforlikes #tagforlike #instadaily #instaupdate #instapost #instaclick #dailynews #instadaily #instalike #onlinenews #hindinews #postoftheday #newsoftheday

A post shared by HS News (@hs.news) on

हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने आम आदमी को राहत दी है. दरअसल हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक ने अपने ग्राहकों को आरटीजीएस के जरिए पैसे भेजने का समय काल बड़ा दिया है.

जानकारी के लिए आपको बता दें कि अभी तक कोई भी भारतीय रिजर्व बैंक का ग्राहक सिर्फ साढ़े चार बजे तक ही धन का अंतरण कर सकता था. लेकिन अब इसकी समय अवधि बड़ा दी गई है. अब आप आरटीजीएस के जरिए पैसे भेजने चाहते है तो आपको शाम 6 बजे तक का समय मिलेगा. कुल मिलाकर आरबीआई ने लोगों को डेढ घंटे की राहत दे दी है.

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) यह व्यवस्था 1 जून से प्रभावी कर देगा. अभी आम आदमी सिर्फ शाम साढ़े चार बजे तक ही धन अंतरण की सुविधा का लाभ उठा पाएंगे. आरबीआई ने अपनी अधिसूचना इस बात की जानकारी देते हुए कहा है, ‘उसने आरटीजीएस में ग्राहक लेन देन के लिए समय को शाम साढ़े चार बजे से बढ़ाकर 6 बजे करने का फैसला किया है.’ आरटीजीएस के तहत यह सुविधा एक जून से मिलेगी.

आरटीजीएस का इस्तेमाल वह लोगों करते हैं जिन्हें अपनी बड़ी से बड़ी रकम तत्काल हस्तांतरण करनी होती है. आरटीजीएस के तहत एक आम आदमी कम से कम 2 लाख रूपए भेज सकता है. जबकि अधिकतम की कोई सीमा नहीं है. आरटीजीएस का फूल फॉर्म रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट होता है. तो  इस तरह से आरबीआई ने अपने ग्राहकों को सुविधा मुहिया कराई है.

Published by Lakhan Sen on 30 May 2019

Related Articles

Latest Articles