टी-सीरीज बना 100 मिलियन सब्सक्राइबर्स वाला पहला यूट्यूब चैनल, प्यू डीपाई दूसरे नंबर पर

Get Daily Updates In Email

भारत की मशहूर म्यूजिक कंपनी टी-सीरीज ने यूट्यूब पर 100 मिलियन सब्सक्राइबर्स बनाकर एक नया वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है. टी-सीरीज ने प्यू डीपाई नाम के स्वीडन के चैनल को पीछे छोड़कर नंबर 1 पोजिशन हासिल की है. कम्पनी ने ट्विटर पर इसकी जानकारी देते हुए एक बैनर पोस्ट किया है और इस उपलब्धि को ‘भारत की जीत’ कहा है.

बुधवार दोपहर तक टी-सीरीज के 100 मिलियन 19 हजार 987 सब्सक्राइबर्स हो गए थे. जबकि प्रतिद्वंद्वी प्यू डीपाई 96 मिलियन 1 लाख 84 हजार 806 यूजर्स के साथ दूसरे नंबर पर है. बता दें यूट्यूब पर इन दोनों चैनलों में पिछले 8 महीने से नंबर वन बनने की दौड़ चल रही है. यह दौड़ पिछले वर्ष अक्टूबर में उस समय शुरू हुई. जब दोनों चैनल के करीब 6.7 करोड़ सब्सक्राइबर हो गए थे. मार्च 2019 में टी-सीरीज ने प्यू डीपाई से करीब एक लाख सब्सक्राइबर्स की लीड बना ली थी.

1980 में टी-सीरीज को एक कैसेट निर्माता कंपनी के रूप में गुलशन कुमार ने शुरू किया था. अब इसे उनके बेटे भूषण कुमार चलाते हैं. 40 साल के बाद यह इंटरनेट की दुनिया में ऑनलाइन म्यूजिक वीडियो के सबसे बड़े प्लेटफॉर्म यूट्यूब पर दुनिया में सबसे आगे निकल गई है. बता दें टी-सीरीज रोज औसतन 6 से 8 वीडियोज अपलोड करता है. इसकी तुलना में प्यू डीपाई एक वीडियो अपलोड करता है. वहीं दूसरी ओर टी-सीरीज में बड़ी संख्या में मशहूर सितारों के वीडियोज हैं. जबकि प्यू डीपाई पर केवल एक व्यक्ति ही स्क्रीन पर होता है.

प्यू डीपाई को स्वीडन के फेलिक्स एर्विड उल्फ केजेलबर्ग चलाते हैं. 30 साल के एर्विड एक गेम कमेंटेटर हैं. इनके बनाए फनी वीडियोज दुनियाभर में वायरल होते हैं. उनके फैन्स उनका जमकर सपोर्ट करते हैं.

View this post on Instagram

Llegando a casa nueva a terminar de mudar todo lo que falta y te llega este regalo por correo 🙂 Mi primer botón de YT! Celebrando 100.000 suscriptores en Youtube, toma tiempo pero si se puede. Para mí ha sido, es y seguirá siendo el mayor de los placeres ayudarles con cursos a crecer como profesionales. Muchas gracias a todos, desde los más antiguos seguidores a quienes recién van llegando, gracias a ustedes se alcanza este reconocimiento y aún faltan más por venir sin duda alguna. Gracias a todos por apoyarme en este camino y ahora vamos por más, el siguiente botón que sea el dorado 🙂 — #youtube #youtubebutton #100k #suscribers #suscriptores #botonyoutube #celebrando #milestone #meta #reconocimiento #canal #academia #español #gratuita #archviz

A post shared by Gov3dstudio (@gov3dstudio) on

बता दें यूट्यूब अमेरिका की एक वीडियो देखने वाली वेबसाइट है. जिसमें पंजीकृत सदस्य वीडियो क्लिप देखने के साथ ही अपना वीडियो अपलोड भी कर सकते हैं. इसे पेपल के तीन पूर्व कर्मचारियों, चाड हर्ले, स्टीव चैन और जावेद करीम ने मिलकर फरवरी 2005 में बनाया था. जिसे नवम्बर 2006 में गूगल ने 1.65 बिलियन अमेरिकी डॉलर में खरीद लिया था.

Published by Yash Sharma on 30 May 2019

Related Articles

Latest Articles