CWC-2019 : गेंद और बल्ले से मेजबान इंग्लैंड का दमदार प्रदर्शन, SA को 104 रनों से हराया

Get Daily Updates In Email

12 वें वनडे विश्व कप का पहला मुकाबला मेजबान इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच लंदन के ओवल मैदान पर खेला गया. इस मैच में दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया. पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड की टीम ने निर्धारित 50 ओवर में 8 विकेट खोकर 311 रन बनाए. लेकिन दक्षिण अफ्रीका इस स्कोर को छूने में नाकामयाब रही और इंग्लैंड ने पहला मैच 104 रनों से अपने नाम कर लिया.

इंग्लैंड के 4 बल्लेबाजों जेसन रॉय, जो रूट, इयॉन मॉर्गन और बेन स्टोक्स ने अर्धशतक लगाए. स्टोक्स 89 रन बनाकर अपनी टीम के हाइएस्ट स्कोरर रहे. दक्षिण अफ्रीका की ओर से लुंगी एंगिडी सबसे सफल गेंदबाज रहे. उन्होंने 66 रन देकर 3 विकेट लिए. वहीं इमरान ताहिर ने 61 और कगिसो रबाडा ने 66 रन देकर 2-2 विकेट लिए. एंडिले फेहलुकवायो भी एक विकेट लेने में सफल रहे.

पहला विकेट सस्‍ते में गिरने के बाद जेसन रॉय ने 54 और जो रूट ने 51 रन बना दूसरे विकेट के लिए 106 रन की साझेदारी की. इन दोनों बल्‍लेबाजों के आउट होने के बाद कप्‍तान मोर्गन  ने 57 और बेन स्‍टोक्‍स ने 89 रन के बेहतरीन पारी खेली. वहीं बात करें दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजी के प्रदर्शन की तो कोई भी बल्लेबाज शानदार प्रदर्शन नहीं कर पाया.

अफ्रीकी टीम की हालत का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उसके सात बल्लेबाज 20 रन का आंकड़ा पार नहीं कर सके. आंदिले ने 24, हाशिम अमला ने 13, एडिन मार्कराम ने 11, कगिसो रबाडा ने 11, जेपी डूमिनी ने 8, ड्वयान प्रीटोरियस ने 1, और फाफ डु प्लेसिस ने 5 रन बनाए. इंग्लैंड के लिए जोफ्रा आर्चर ने सबसे अच्छी गेंदबाजी की. उन्होंने सात ओवर में महज 27 रन देकर तीन विकेट चटकाए. इसके अलावा लियम प्लंकेट और बेन स्टोक्स ने दो-दो जबकि आदिश राशि और मोइन अली ने एक-एक विकेट हासिल किया.

इंग्लैंड का अगर पिछला वर्ल्ड कप देखा जाए तो वह बेहद निराशाजनक रहा था. लेकिन इयोन मोर्गन की कप्तानी वाली इस टीम ने उसके बाद जबरदस्त सुधार किया है. इंग्लैंड को अब वह टीम माना जाता है जिसके लिए किसी भी लक्ष्य को हासिल करना मुमकिन है. इंग्लैंड ने बीते ढाई साल में कोई भी दो से ज्यादा मैचों वाली सीरीज नहीं गंवाई है.

Published by Yash Sharma on 31 May 2019

Related Articles

Latest Articles