स्मृति के PF सर्टिफिकेट को किया जाएगा नीलाम, इससे की जाएगी मजदूर महिलाओं की मदद

Get Daily Updates In Email

लोकसभा चुनाव 2019 में स्‍मृति ईरानी ने कांग्रेस का किला माने जाने वाले उत्‍तर प्रदेश के अमेठी लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस के अध्‍यक्ष राहुल गांधी को शिकस्‍त दी. वह आज देश की केंद्रीय मंत्री हैं. आज उनके सितारे बुलंदियों को छू रहे हैं. लेकिन उनके संघर्ष के दिन भी काफी लंबे रहे हैं. मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार 90 के दशक में ऐसा भी समय आया था जब स्‍मृति ईरानी को मुंबई के बांद्रा में चर्चित फास्ट फ़ूड चेन मैकडॉनल्‍ड में काम करना पड़ा था.

मुंबई में संघर्ष के समय स्मृति मल्होत्रा के नाम से जानी जाती थीं. बता दें कि इस नौकरी से पहले उन्हें एयर हॉस्टेस की नौकरी के इंटरव्यू में रिजेक्ट कर दिया गया था. अब स्मृति ईरानी की फास्ट फूड की कंपनी में नौकरी का प्रोविडेंट फंड सर्टिफिकेट की जल्द ही नीलामी की जाएगी. इससे जो पैसे आएंगे उन्हें महिला कारीगरों के एक समूह को दिया जाएगा.

यह नीलामी कॉटन टेक्सटाइल एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल की ओर से कराई जा रही है. केंद्रीय कपड़ा मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि जिन महिला कारीगरों के समूह को नीलामी से मिलने वाले पैसे दिए जाएंगे उनकी पहचान की प्रक्रिया शुरू हो गई है. यह सब टेक्सप्रोसिल और ईरानी के बीच 1990 के दशक के उनके मैकडॉन्ल्ड में की गई नौकरी पर बातचीत के बाद शुरू हुआ था.

बता दें उस वक्त ईरानी को हर महीने 1800 रुपए वेतन मिलता था. यहां काम करने के बाद ही उन्होंने टेलीविजन का रुख किया था. साथ ही बता दें कि एकता कपूर का सुपरहिट सीरियल ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ में काम करने से ईरानी एक जाना पहचाना चेहरा बन गईं. इसके बाद उन्होंने फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा.

View this post on Instagram

Smriti Irani: The Indian Politician. Smriti Irani is an Indian Politician and former model, television actress, and producer. She is one of the most prominent members of Bhartiya Janta Party(BJP) and Member of Parliament in Lok Sabha. In 2019 Lok Sabha election she was contesting against the Indian Congress party, President Rahul Gandhi and won the seat against him. This seat from the past 4 decades belongs to the Gandhi family only. She lost the Lok Sabha Election against Rahul Gandhi in 2014 with a small marginal of the vote, but that phase wouldn’t impact her confidence and she gives a competition once again in 2019. After 2014 election she appointed as the Minister of Human Resource Development in the cabinet. Since her appointment, she was criticized for lack of formal higher educations. In 2016 the Ministry of Human Resource Development was taken away from her and  She was given the Ministry of Textiles, in the cabinet reshuffle. Smriti Irani was Born on 23 March 1976 in Mumbai Maharashtra. She has been a part of since childhoodRashtriya Swayamsevak Sangh (RSS) and she has 3 elder sisters. She got married to Parsi Businessmen Zubin Irani in 2001. They both have 2 children now. #SmritiIrani #IndianPolitician #FormerModel #Televisionactress #Producer#LokSabhaelection #BhartiyaJantaParty #RahulGandhi#MemberofParliament

A post shared by Trending Stories (@trendzzz.190) on

विभाग के अधिकारीयों ने बताया, ‘जब हमने उन्हें एक बार बताया कि उनके नाम का अकाउंट मिला है. तो हमने उनसे चर्चा की कि महिलाओं के जीवन को बेहतर बनाने के लिए इसे किस तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है. उसी समय इस सर्टिफिकेट की नीलामी का फैसला लिया गया. और इससे मिलने वाले पैसौं को मंत्रालय को देने का निर्णय लिया गया है.

Published by Yash Sharma on 05 Jun 2019

Related Articles

Latest Articles