स्वच्छता में नम्बर वन बनने के बाद इंदौर को ट्रैफिक में भी नम्बर वन बनाने की मुहिम शुरू

Get Daily Updates In Email

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए स्वच्छ भारत अभियान में देश का हर शहर जुट गया है. इस अभियान के अंतर्गत जहां हर राज्य और शहर खुद को सबसे बेहतर साबित करने पर तुला हुआ है. तो वहीं मध्य प्रदेश के शहर इंदौर ने स्वच्छता के मामले में सबको पीछे छोड़ा हुआ है. मालूम हो कि इंदौर को लगातार तीन बार देश का सबसे साफ और स्वच्छ शहर घोषित किया जा चुका है. सफाई के मामले में अव्वल बन चुका इंदौर अब ट्रैफिक को लेकर भी सजग होता हुआ दिखाई दे रहा है.

इस मामले में हाल ही में सीक्यूब बिजनेस कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड जो कि इंदौर पुलिस के लिए प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसल्टेंट हैं के द्वारा एक खास कार्यक्रम “विजन 2022” का भी आयोजन किया गया. इस दौरान यहां शहर के एडीजीपी अरुण कपूर, एसएसपी रूचिवर्धन मिश्रा, एसपी हेडक्वार्टर अवधेश गोस्वामी, आईआईएम डायरेक्टर हिमांशु राय आदि मौजूद रहे.

इस दौरान जहां इंदौर को साफ-सफाई में ऐसे ही अव्वल बनाए रखने को लेकर बातें हुईं तो वहीं एडीजीपी वरुण कपूर ने ट्रैफिक को लेकर भी अपने विचार सबके सामने रखे. वरुण कपूर ने कहा कि वो इंदौर को पूरे देश में ट्रैफिक के परिक्षेप में एक रोल मॉडल टाउन बनाना चाहते हैं. साथ ही उन्होंने समाज से ट्रैफिक में भी इंदौर को सबसे बेहतर बनाने की अपील की.

उनका कहना है कि उनके इस प्रोजेक्ट का संपूर्ण फोकस ट्रैफिक की शिक्षा द्वारा स्व-जागरूकता पर होगा. और वे आने वाले समय में इंदौर में होने वाली ट्रैफिक की समस्याओं पर ध्यान देते हुए उनके हलों पर भी फोकस करेंगे. इसके अलावा कपूर ने बताया कि इस प्रोजेक्ट के पहले चरण के अंतर्गत रीगल चौराहे से पलासिया चौराहे को एक आदर्श मार्ग के रूप में तैयार किया जाएगा.

स्वच्छता की ही तरह ट्रैफिक में भी इंदौर को रोल मॉडल बनाने हेतु इंदौर ट्रैफिक पुलिस ने भी लोगों से प्रोजेक्ट विजन 2022 के साथ “बेहतर यातायात-बेहतर इंदौर” अभियान से जुड़ने की अपील की है. वहीं इंदौरवासियों की तारीफ करते हुए कपूर ने कहा कि इंदौर के लोग अपने आप में एक मिसाल हैं एवं इंदौर कई सफल योजनाओं को मूर्त रूप दे चुका है. गौरतलब है कि पिछले काफी समय से इंदौर ने अपनी सफाई के मामले में देशभर में अपना नाम रोशन किया है. वहीं अब इसे ट्रैफिक के मामले में भी सबसे बेहतर बनाए जाने पर भी जोर दिया जा रहा है.

Published by Hitesh Songara on 20 Jun 2019

Related Articles

Latest Articles