लॉन्च होते ही ब्रेव ब्राउज़र की हो रही गूगल क्रोम से तुलना, हाई स्पीड के साथ मिल रहे पैसे भी

Get Daily Updates In Email

दुनिया के सबसे लोकप्रिय सर्च इंजन ब्राउजर गूगल क्रोम को टक्कर देने के लिए अब एक नया ब्राउजर मैदान में आ गया है. इंटरनेट ब्राउजिंग की दुनिया में लॉन्च होते ही इस ब्राउजर ने तहलका मचा दिया है. खास बात तो यह है कि इस ब्राउजर में आने वाले ऐड से यूजर को भी फायदा होने वाला है. दरअसल इस ब्राउजर में जो भी यूजर ऐड (विज्ञापन) देखना पसंद करेगा. उसके बदले में उस यूजर को कुछ पैसे भी मिलेंगे. हां अगर कोई यूजर ऐड नहीं देखना चाहता है तो वह नहीं देख सकता है. बता दें कि यह ब्राउजर यूजर को ऐड (विज्ञापन) देखने का भी ऑप्शन देता है.

courtesy

सबसे पहले तो आपको यहां बता दें कि यहां हम बात कर रहे हैं हाल ही में लॉन्च होने वाले Brave ब्राउजर की. लॉन्च होते ही इस Brave ब्राउजर ने ब्राउजर गूगल क्रोम को कड़ी टक्कर दे दी है. इस ब्रेव ब्राउजर में ऐड देखने वाले यूजर्स को रेवेन्यू का 70 प्रतिशत हिस्सा कंपनी देगी. बचे हुए 30 प्रतिशत ब्राउजर के डिवेलपर्स के हिस्से में जाएंगे.

courtesy

ख़बरों की माने तो इस ब्राउजर के ऐडवर्टाइजिंग मॉडल में हिस्सा लेने वाले यूजर्स को कंपनी 60 से 70 डॉलर तक कंपनी भुगतान करेगी. हाल ही में कंपनी ने इस बारे में एक ब्लॉग में कहा है, ‘ब्रेव ऐड्स के जरिए हम ऑनलाइन ऐडवर्टाइजिंग सिस्टम को पूरी तरह बदल रहे हैं जो आक्रामक होने के साथ ही बेकार भी हो गया था.’

courtesy 

जानकारी के लिए आपको बता दें कि ब्रेव को सबसे पहले साल 2018 में आईओएस के लिए लॉन्च किया गया था. कंपनी का दावा है कि ब्राउजर क्रोम की तुलना में डेस्कटॉप पर दोगुना और मोबाइल पर आठ गुना तेज काम करता है. इस ब्राउजर की सबसे अच्छी बात तो यह है कि यह ब्राउजर किसी भी यूजर का डेटा नहीं देखता है. इतना ही नहीं यूजर्स का डेटा भी स्टोर नहीं करता है. इसके अलावा यूजर्स को प्रिवेसी सेटिंग कस्टमाइज करने का ऑप्शन भी देता है. वहीं हम बात करें क्रोम की तो क्रोम में यह सारी सुविधा आपको नहीं मिल रही है. क्रोम पर प्रिवेसी सेटिंग कस्टमाइज ऑप्शन भी नहीं रहता है.

Published by Lakhan Sen on 01 Jul 2019

Related Articles

Latest Articles