बर्थडे : 11 बार फिल्मफेयर अवॉर्ड जीत चुके हैं यश चोपड़ा, बिग बी से शाहरुख़ तक को बनाया स्टार

Get Daily Updates In Email

हिंदी सिनेमा को एक अलग ही विस्तार देने वाले फ़िल्मकार यश चोपड़ा का आज बर्थडे है. यश चोपड़ा ने अपनी फ़िल्मों के जरिये बड़े पर्दे पर सपनों की एक ऐसी दुनिया रच दी, जिसने सबको अपने साथ जोड़ लिया. उनकी कहानियों में इतने गहरे इमोशन होते थे कि दर्शक उसकी जादू में बंध से जाते थे. भले ही ‘लार्जर दैन लाइफ’ रोमांस रचने के लिए उन्हें याद किया जाता है लेकिन, सच तो यह है कि उनकी फ़िल्में लोगों को छू लेती रही हैं.

फ़िल्मफेयर पुरस्कार से लेकर राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार और यहां तक की दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित पद्म भूषण यश चोपड़ा साहब का जन्म 27 सितंबर 1932 को लाहौर में हुआ था. साल 1959 में उन्होंने पहली फ़िल्म ‘धूल का फूल’ का निर्देशन किया. 1961 में ‘धर्मपुत्र’ और 1965 में मल्टीस्टारर फ़िल्म ‘वक्त’ बनाई. तब तक उन्होंने यह साबित कर दिया था कि वह इस इंडस्ट्री को कुछ देने के लिए आए हैं. 1973 में उन्होंने अपनी प्रोडक्शन कंपनी ‘यशराज फ़िल्म्स’ की नींव रखी.

1969 में आई उनकी फिल्म ‘इत्तेफाक’ में इंटरवेल और गाना नहीं था. यश चोपड़ा ने 11 बार फिल्मफेयर अवॉर्ड जीता था यश चोपड़ा को ‘धर्मपुत्र’, ‘चांदनी’, ‘डर’, ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’, ‘दिल तो पागल है’ और ‘वीर-ज़ारा’ के लिए 6 बार नेशनल अवॉर्ड मिला था. उन्होंने आखिरी फिल्म ‘जब तक है जान’ डायरेक्ट की थी. फिल्मों की शूटिंग के लिए यश चोपड़ा का स्विट्‍जरलैंड प्रिय डेस्टिनेशन था. 25 अक्टूबर 2010 में स्विट्‍जरलैंड में उन्हें एंबेसेडर ऑफ इंटरलेकन अवॉर्ड से भी नवाजा गया था. स्विट्‍जरलैंड में उनके नाम पर एक सड़क भी है और वहां पर एक ट्रेन भी चलाई गई है.

View this post on Instagram

"Bollywood New York" is a big fan of Sridevi! As I was surfing and came across to something that I never knew and thanks to @muvyz I found out that Sridevi was supposed to do a film titled "Teer Andaz" with Sunny Deol and it was supposed to be directed by Manmohan Singh. The film had Mahurat which was clapped by Late Yash Chopra. For some reason the film never got made. 🥺. ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~ From celebrities pictuess to movie reviews, your fun stop to bollywood here, only at Bollywood New York. . . . #TeerAndaz #Sridevi #SrideviKapoor #SunnyDeol #Manmohansingh #yashchopra #BollywoodNewYork #Bollywood #Bollywoodmovies #desi #BollywoodActress #mumbai #BollywoodFashion #BollywoodMovies #BollywoodStyle #BollywoodFilms #BollywoodNews #Bollywoodactor #BollywoodCelebrities #hindimovies #hindimovie follow us for more @BollywoodNewYork

A post shared by Bollywood New York (@bollywoodnewyork) on

1975 में फिल्म दीवार से उन्होंने महानायक अमिताभ बच्चन की ‘एंग्री यंग मैन’ की छवि बनाई. यश चोपड़ा ने अपने प्रोडक्शन कंपनी से नए निर्देशकों और शाहरुख़ जैसे सितारों को इंडस्ट्री में मौके दिए. यश चोपड़ा को रोमांटिक फ़िल्मों का जादूगर कहा जाता है. बता दें कि यश चोपड़ा के बड़े बेटे आदित्य चोपड़ा भी निर्देशक हैं जबकि उनके छोटे बेटे उदय चोपड़ा ‍‍बॉलीवुड एक्टर हैं. हिंदी सिनेमा में उनके शानदार योगदान के लिए 2001 में उन्हें भारत के सर्वोच्च सिनेमा सम्मान दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया.

Published by Yash Sharma on 27 Sep 2019

Related Articles

Latest Articles