लगातार 500 कुश्ती जीतने वाले दारा सिंह के बेहद करीब थीं करीना, बेटी से भी ज्यादा करते थे प्यार

Get Daily Updates In Email

एक्टर कम पहलवान ज्यादा कहे जाने वाले दारा सिंह के बारे में शायद ही कोई ऐसा होगा जो जानता न हो. दारा सिंह ने अपनी दमदार पहलवानी से देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी अपना नाम कमाया है. दारा सिंह का जन्म 19 नवंबर 1928 को पंजाब में अमृतसर में हुआ था. दारा सिंह की माता बलवंत कौर और पिता सूरत सिंह रंधावा थे. दारा एक ऐसे पहलवान थे जिनका सीना 53 इंच का था. वह इतने लंबे-चौड़े थे कि उन्होंने 200 किलो वजनी रेसलर को उठाकर फेंक दिया था. इसके बाद उन्हें ‘रुस्तम-ए-हिन्द’ की उपाधि दी गई थी.

उन्होंने कुश्ती के साथ-साथ एक्टिंग की दुनिया में भी कदम रखा और कई फिल्मों व सीरियल्स में काम किया. बॉलीवुड में दारा सिंह की एंट्री फिल्म ‘संगदिल’ से हुई, जो सन 1952 में रिलीज हुई थी. इस फिल्म में एक्टर दिलीप कुमार और मधुबाला थे. रामानंद सागर के शो रामायण में उन्होंने हनुमान का किरदार निभाया था. हनुमान के किरदार से उन्हें घर-घर में ख्याति मिली थी. इसके बाद उन्होंने डायरेक्शन के क्षेत्र में भी कदम रखा.

दारा सिंह ने साल 1970 में पहली बार फिल्म ‘नानक दुखिया सब संसार’ को डायरेक्ट किया था. वह फिल्म उस समय में ब्‍लॉकबस्‍टर साबित हुई थी. आखिरी बार दारा सिंह को फिल्‍म जब वी मेट में देखा गया था. ऐसा कहा जाता है कि, दारा सिंह के दिल के करीना बेहद करीब थीं. दरअसल ‘जब वी मेट’ की शूटिंग के दौरान दारा सिंह करीना के स्वभाव से इतने इम्प्रेस थे कि उन्हें करीना में अपनी बेटी नजर आने लगी थीं. फिल्म के सेट पर करीना कपूर को बेट कह कर ही बुलाने लगे थे.

View this post on Instagram

Dara Singh (Deedar singh Randhawa) He was born on 19 November in 1928 in the village of Dharmuchak, Amritsar.Dara singh had huge physique and many villagers encouraged him to learn pehelwani(wrestling). He toured in most of the wrestling countries and fought their champions and also became Champion of the world on May 29,1968. In 1989,he published his autobiography Meri Atmakatha in punjabi. Dara singh appeared various films and Tv serials. The veteran was popularly known as action King in 1960s -1970s. He was nominated member of Rajya Sabha by Bhartiya Janata Party during August 2003- August 2009. Dara singh married twice. He had six children- three sons and three daughters , including Parduman Randhawa and Vindu Dara Singh . His brother Randhawawas also wrestler and actor. Dara singh did Tv serials and best known for his Portrayal of Hanuman in Ramanad Sagar’s hit television series Ramayan.#darasingh #vindudarasingh @vindusingh

A post shared by FILMSZILLA (@filmszilla) on

दारा सिंह वह शख्स थे जिन्होंने कुश्ती के सारे 500 मुकाबले जीतकर दुनिया को अपनी ताकत का लोहा मनवाया था. अपने छत्तीस साल के कुश्ती के करियर में कोई ऐसा पहलवान नहीं था जिसे दारा सिंह ने अखाड़े में हराया नहीं हो.

दारा सिंह ने अपने समय के सभी बड़े पहलवानों को हराया था. जानकारी लिए आपको बता दे कि दारा सिंह पहले ऐसे खिलाड़ी थे जिसे राज्यसभा के लिए मनोनीत किया गया था. साल 2003 में वे राज्यसभा के सदस्य बने थे. 12 जुलाई 2012 को दारा सिंह का निधन हो गया.

Published by Lakhan Sen on 19 Nov 2019

Related Articles

Latest Articles