फिजिक्स में जीरो अंक मिलने पर भी सुन्दर पिचाई ने की एक महिला की तारीफ, प्रेरणादायक है कहानी

Get Daily Updates In Email

गूगल के सीईओ सुंदर पिचई दुनिया के टॉप टेक लीडर्स और साइंटिस्ट में से एक हैं. फिलहाल वह इसलिए सुर्खियों में हैं क्योंकि उन्होंने सोशल मीडिया पर एक ऐसी महिला की जमकर तारीफ की है जिसने क्वांटम फिजिक्स की परीक्षा में शून्य अंक स्कोर किया था. उस महिला ने खुद अपनी प्रेरणादायक कहानी को सोशल मीडिया पर बताया है जिसे पिचाई ने शेयर करते हुए इंस्पायरिंग बताया है. गूगल सीईओ सुंदर पिचाई ने क्वांटम फिजिक्स सबजेक्ट में जीरो नंबर लाने वाली एक महिला की जमकर तारीफ की है. दरअसल सराफिना नेंस नाम की महिला ने क्वांटम फिजिक्स परीक्षा में 0 नंबर मिलने की बात ट्वीट की थी.

सराफिना नेंस नाम की एक महिला ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘4 साल पहले मुझे क्वांटम फिजिक्स परीक्षा में 0 मिला. मैं अपने प्रोफेसर से इस डर के साथ मिली थी कि मुझे अपना मुख्य विषय बदलना होगा और फिजिक्स को अलविदा कहना होगा. आज, मैं एक शीर्ष स्तरीय एस्ट्रोफिजिक्स पीएचडी प्रोग्राम का हिस्सा हूं और 2 पेपर प्रकाशित कर चुकी हूं. STEM सभी के लिए कठिन है- ग्रेड का मतलब यह नहीं है कि आप इसे करने में सक्षम नहीं है.’ महिला के इस ट्वीट को रिट्वीट कर सुंदर पिचाई ने लिखा, ‘बिल्कुल सही कहा और बेहद प्रेरणादायक है.’ सुंदर पिचाई को रिप्लाई करते हुए महिला ने उन्हें धन्यवाद कहा.

आज सराफिना नैंसी दुनिया के नामी गिरामी संस्था बर्केले स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया से खगोल भौतिकी विज्ञान में पीएचडी कर रही हैं. 26 वर्षीय ये खगोल भौतिकी वैज्ञानिक सुपरनोवा पर शोध कर रही हैं. सराफिना ने एक ट्वीट कर बताया कि 4 साल पहले क्वांटम फिजिक्स की परीक्षा में उसे 0 अंक प्राप्त हुए थे. सराफिना ने गुरुवार को यह ट्वीट किया है जिसके बाद इस ट्वीट को लगभग 80,000 से भी ज्यादा बार लाइक किया जा चुका है. और 15,000 से भी ज्यादा बार रीट्वीट किया जा चुका है.

बता दें कि सुंदर पिचाई का जन्म तमिलनाडु के चेन्नई में हुआ था. आईआईटी खड़गपुर से बीटेक करने के बाद उन्होंने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से एमएस किया. इसके बाद पेनसिलवेनिया यूनिवर्सिटी के वार्टन स्कूल से एमबीए भी किया.

Published by Yash Sharma on 25 Nov 2019

Related Articles

Latest Articles