क्रिकेट के लिए घर छोड़ हॉस्टल शिफ्ट हुए थे रैना, बने तीनों फॉर्मेट में शतक लगाने वाले पहले इंडियन

Get Daily Updates In Email

टीम इंडिया के इस मध्यक्रम के सबसे धमाकेदार बल्लेबाजों में से एक सुरैश रैना को टीम इंडिया में अपनी जगह बनाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी थी. 27 नवंबर 1986 को जन्मे सुरेश रैना आज अपना 33वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं. बाएं हाथ के इस खिलाड़ी ने भारत के लिए 226 वनडे, 78 टी-20 और 18 टेस्ट मैच खेले हैं. तीनों फॉर्मेट में सुरेश रैना ने 7988 रन बनाए हैं. इनमें 7 शतक और 48 अर्द्धशतक शामिल हैं.

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में भी वह सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ियों में हैं. चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से खेलते हुए उनकी टीम ने तीन बार खिताब जीता है. सुरेश रैना ने टीम इंडिया के लिए खेलते हुए टेस्ट में 768, वन-डे में 5615 और टी-20 में 1604 रन बनाए हैं. इंटरनेशनल क्रिकेट में सुरेश रैना ने 2005 में महज 19 साल की उम्र में वनडे डेब्यू किया था. उनका पहला मैच 30 जुलाई, 2005 को श्रीलंका के खिलाफ दांबुला में था. अब तक रैना क्रिकेट के कई रिकॉर्ड्स अपने नाम कर चुके हैं.

रैना को राज्य के स्पोर्ट्स हॉस्टल में रहने के लिए गाजियाबाद छोड़कर लखनऊ आना पड़ा. 1999 में रैना को यहां दूसरे बच्चों की तरह हॉस्टल के काम भी करने पड़े. वह 2006 तक हॉस्टल में रहे. टीम इंडिया में आने के बाद उन्होंने होस्टल छोड़ दिया. सुरैश रैना की उम्र उस समय 16 साल की थी, जब उन्हें अंडर 19 में इंग्लैंड दौरे के लिए चुना गया. टीम इंडिया की टी-20 में कप्तानी करने वाले रैना सबसे युवा खिलाड़ी हैं. उन्होंने पहली बार टीम इंडिया की कप्तानी की तो उनकी उम्र महज 23 साल थी.

View this post on Instagram

‪Wish you all a very Happy Diwali! 💥⭐️‬

A post shared by Suresh Raina (@sureshraina3) on

वह पहले ऐसे भारतीय खिलाड़ी बने जिसने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में शतक लगाया हो. रैना ने एशिया कप हॉन्गकॉन्ग के खिलाफ वनडे में शतक लगाया, दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वर्ल्ड टी-20 में शतक लगाया. सुरेश रैना की शादी मेरठ की प्रियंका चौधरी से हुई है. सुरेश और प्रियंका की एक बेटी ग्रेसिया है. अपनी बेटी के नाम पर रैना दंपती ने ग्रेसिया रैना फाउंडेशन की शुरुआत की है. रैना को संगीत से भी खासा लगाव है.

Published by Yash Sharma on 27 Nov 2019

Related Articles

Latest Articles