पिलेट्स क्लास से सामने आया जाह्नवी कपूर का वीडियो, जानिए इस एक्सरसाइज के बारे में

Get Daily Updates In Email

बॉलीवुड एक्ट्रेस जाह्नवी कपूर अपनी फिटनेस को लेकर काफी सतर्क रहती हैं और आए दिन उन्हें जिम के बाहर स्पॉट किया जाता है. वह कभी भी जिम जाना नहीं भूलती हैं. जाह्नवी कपूर फिटनेस ट्रेनर नम्रता पुरोहित के पिलेट्स स्टूडियो में वर्कआउट करती हैं. जहां से उनके फोटोज और वीडियोज भी सामने आते हैं. जिसके बाद अब हाल ही में जाह्नवी कपूर का एक और वीडियो सामने आया है. जिसमें वह फिटनेस ट्रेनर नम्रता पुरोहित के साथ वर्कआउट करते हुए नजर आ रही हैं.

जाह्नवी कपूर के इस वीडियो को देखकर उनके फैंस बहुत खुश हैं और उनकी तारीफ कर रहे हैं. इस वीडियो को नम्रता ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से शेयर किया है.

अपनी फिटनेस को लेकर जाह्नवी कपूर ने बताया था कि फिट रहने की लिए वह हर कोशिश करती हैं. उन्होंने बताया कि वह ज्यादा से ज्यादा समय अपने वर्कआउट क्लासेस को देती हैं. जाह्नवी का यह वर्कआउट वीडियो बड़ा शानदार है.

View this post on Instagram

#janhvikapoor

A post shared by Bollywood Actresses (@bollywood.actressess) on

बात करें जाह्नवी की पिलेट्स क्लासेज की तो पिलेट्स, मानसिक स्थिति और शारीरिक ट्रेनिंग को आपस में जोड़ता है जो कि किसी व्यक्ति को मजबूत और स्ट्रेचेबल बनाने में मदद करती है. इसके साथ ही यह शरीर के तनाव को भी दूर करता है. इसके अलावा यह सांस से रिलेटेड बीमारियों से भी छुटकारा दिलाता है. यही नहीं यह मांसपेशियों के लिए भी काफी अच्छा है. तो चलिए आपको बताते हैं पिलेट्स से जुड़ी कुछ खास बातें –

स्पीड को करता है कंट्रोल –

यह एक ऐसी एक्सरसाइज है जिसमें स्पीड को कंट्रोल भी किया जा सकता है. इसमें पोजीशन और ट्रेंड भी होता है. इसका जरुरी हिस्सा लंबी सांस लेना और रिलेक्स करना है. इसे सही तरीके से करने पर इससे flexibility, strength आने के साथ ही tolerance बढ़ती है. इसमें पेट, पीठ और womb की मसल पर खास ध्यान दिया जाता है. जिस वजह से इस मसल्‍स को टाइट करना जरूरी है.

2. बनाता है प्रेग्नेंसी के दौरान सांस लेने की प्रक्रिया को मजबूत –

जिम के अलावा आप पिलेट्स को घर पर भी कर सकते हैं. यह स्लो और कंट्रोल करने वाली कोर एक्सरसाइज जैसी होती है जोकि एब्स पर अच्छा काम करती है. यह बॉडी बिल्डिंग प्रोसेस है जोकि बॉडी के strength training खास तौर पर पेट के हिस्‍से और प्रेग्नेंसी के दौरान सांस लेने की प्रक्रिया को मजबूत बनाती है.

3. बैली फैट होता है कम –

यह बढ़ते वजन को कंट्रोल करने में मददगार होता है. बैली फैट को कम करने के लिए इससे अच्छा ऑप्शन और दूसरा नहीं है. वहीं कमर दर्द से निजात पाने, कमर और हिप्‍स की मसल्‍स को मजबूत करने में यह काफी मददगार है. इसके अलावा जब पिलेट्स करते हैं तो इस समय पैरों में मूवमेंट होने से बॉडी में ब्‍लड सर्कुलेशन बढ़ता है और इससे पैर की सूजन तथा ऐंठन भी ठीक होने लगती है.

Published by Chanchala Verma on 28 Nov 2019

Related Articles

Latest Articles