एक्टिंग के साथ ही धीरे-धीरे प्रोडक्शन की तरफ रुख कर रहे हैं अजय देवगन, शेयर की कई बातें

Get Daily Updates In Email

बॉलीवुड एक्टर अजय देवगन इन दिनों अपनी आने वाली फिल्म ‘तानाजी’ को लेकर चर्चा में हैं. इस फिल्म मेंउनके साथ काजोल लीड रोल में नजर आने वाली हैं. इस फिल्म को अजय देवगन ने ही प्रोड्यूज किया है. हाल ही में दिए इंटरव्यू के दौरान अजय देवगन ने यह भी कहा- ‘मैं जानता हूं कि एक्टर्स की सीमा होती है. कुछ साल बाद मैं मेनस्ट्रीम एक्टर नहीं रह सकता और मुझे कैरेक्टर रोल करने पड़ सकते हैं इसलिए मेरा फोकस धीरे-धीरे ही सही प्रोडक्शन पर होगा.’

इसके बाद अजय से पूछा गया कि क्या लाइमलाइट का नशा नहीं होता? तो इस सवाल का जवाब देते हुए अजय ने कहा -‘बिल्कुल होता है लेकिन मैं इसे पकड़कर नहीं रख सकता. इससे पहले कि मुझे  निकाला जाए, मैं खुद ही इससे बाहर हो जाना चाहता हूं.’

View this post on Instagram

😎

A post shared by Ajay Devgn (@ajaydevgn) on

‘तानाजी’ अजय देवगन के करियर की 100वीं फिल्म है और इसे लेकर अजय से पूछा गया कि क्या फिल्म की रिलीज को लेकर उन्हें किसी तरह का डर है? तो इस बात का जवाब देते हुए एक्टर ने कहा – ‘मुझे डर नहीं लगता. लेकिन चिंता जरूर होती है कि क्या होगा? क्योंकि पूरी टीम कड़ी मेहनत करती है.’

आगे एक्टर ने कहा – ‘मैं लोगों से उम्मीद करता हूं कि वे फिल्म देखें और पसंद करें. क्या होगा, जब आप कहीं गलत हो जाएं और लोगों को फिल्म पसंद न आए? यह बिल्कुल परीक्षा परिणाम का इंतजार करने जैसा है. आपको पता नहीं होता कि दर्शक किस तरह प्रतिक्रिया देने वाले हैं. इसे लेकर चिंता होती है.’

View this post on Instagram

Kicking off the promotions for De De Pyaar De.

A post shared by Ajay Devgn (@ajaydevgn) on

बताते चलें अजय देवगन टीनएज से ही फिल्मों की एडिटिंग और डायरेक्शन का काम करते हुए नजर आ रहे हैं उन्होंने अपने पिता वीरू देवगन से एडिटिंग टेक्निक की बारीकियां सीखी हैं. इसके लेकर हाल ही में अजय ने कहा – ‘मुझे वाकई इसमें मजा आता था और यहीं से मैंने फिल्ममेकर शेखर कपूर और उसके बाद दीपक शिवदासानी को असिस्ट करना शुरू किया लेकिन मैंने वे सभी शॉट्स और सीक्वेंस खो दीं, जिन्हें मैंने देखा और एडिट किया था.’

एक्टिंग को लेकर सीरियस होने को लेकर अजय ने कहा – ‘जब मैंने ‘फूल और कांटे’ (1991) की शूटिंग शुरू की थी. मेरा मानना है कि अगर आप कुछ करना चाहते हैं तो वह सही तरीके से करना चाहिए, अन्यथा आप वह नहीं कर सकते. जिस दिन मैं सेट पर पहुंचा था, उसी दिन सीरियस हो गया था. फिल्म रिलीज हुई और चल निकली तो जिम्मेदारी आ गई. चूंकि लोगों ने मुझे पसंद किया था, इसलिए मुझे यह सुनिश्चित करना पड़ा कि मैं अच्छा काम करता रहूं.’

Published by Chanchala Verma on 08 Jan 2020

Related Articles

Latest Articles