महाभारत में युधिष्ठिर का किरदार निभा चुके हैं गजेंद्र, बता चुके हैं उस समय का लोगों का रिएक्शन

Get Daily Updates In Email

इन दिनों दूरदर्शन पर ‘रामायण’ और ‘महाभारत’ का प्रसारण शुरू हुआ है. जिसके बाद से इन दोनों आइकॉनिक शोज को लेले सुर्खियां बटोर रहे हैं. बीआर चोपड़ा की ‘महाभारत’ देखकर सभी की पुरानी यादें ताजा हो रही है. इसी बीच ‘महाभारत’ में युधिष्ठिर का किरदार निभाने वाले गजेंद्र चौहान से जुड़े किस्से भी सामने आ रहे हैं जो काफी मजेदार हैं. युधिष्ठिर के किरदार के लिए गजेंद्र को काफी पसंद किया गया था.

courtesy

गजेंद्र चौहान ने महाभारत की सफलता को याद किया और एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि हमें उस दौरान बड़े-बड़े उद्योगपतियों से लेकर प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति तक ने खाने पर आमंत्रित किया. ऐसे में एक किस्से को याद करते हुए गजेंद्र ने कहा था- ‘एक बार मेरे घर की घंटी बजी. मैंने दरवाजा खोला तो एक सज्जन बाहर खड़े थे और रो रहे थे. आगे उन्होंने कहा कि वो कोलकाता से आए हैं और उनके पिता बहुत बीमार हैं. वह एंबुलेंस में मेरे घर के बाहर ही थे.’

courtesy

गजेंद्र कहते हैं – ‘उन सज्जन ने मुझसे उनके पिता के सिर पर हाथ रखने की गुजारिश की ताकि वो ठीक हो जाएं. या ठीक ना भी हो पाएं तो उन्हें संतोष रहेगा कि मरने से पहले धर्मराज युधिष्ठिर ने उन्हें स्पर्श किया. मुझे यह बात बड़ी अजीब लगी और थोड़ी झिझक भी हुई लेकिन उनके बार-बार कहने पर मैं मान गया. मैं उनके पिता से मिला और उनके सिर पर हाथ रखा. किस्मत देखिए, कुछ दिन अस्पताल में रहने के बाद वह बिलकुल ठीक भी हो गए और बार-बार मेरा अहसान माना.’

courtesy

एक किस्सा बताते हुए गजेंद्र ने बताया था – ‘एक बार मैं और अरुण गोविल (जिन्होंने रामायण में राम का किरदार निभाया था) चंडीगढ़ एयरपोर्ट में मिले. हम बात कर रहे थे कि हमें अपने पैर के पास कुछ महसूस हुआ. हमने नीचे देखा कि करीब 90 वर्ष के एक बुजुर्ग अपना एक हाथ मेरे पैरों पर और दूसरा हाथ अरुण गोविल के पैरों पर रखे हुए हैं.’

courtesy

आखिर में वह कहते हैैं – ‘ऐसे देखकर हम चौंक गए. हमने उन्हें उठाया और कहा कि यह आप क्या कर रहे हैं, तो वो बोले, “जिंदगी में पहली बार श्रीराम और धर्मराज युधिष्ठिर को साथ देख रहा हूं. अब मैं चैन से मर सकूंगा.’ बता दें दूरदर्शन पर सुबह और रात को नौ बजे रामायण और दोपहर 12 बजे और शाम 7 बजे महाभारत का प्रसारण किया जा रहा है.

Published by Chanchala Verma on 07 Apr 2020

Related Articles

Latest Articles