बर्थडे : कई उतार-चढ़ावों से भरी रही है नवाज की लाइफ, आज हैं बॉलीवुड का चमकता नाम

Get Daily Updates In Email

फिल्म इंडस्ट्री में जब भी संजीदा एक्टर्स की बात की जाती है तो उसमें नवाजुद्दीन सिद्दीकी का नाम टॉप पर लिया जाता है. नवाज ने फिल्म इंडस्ट्री में अपनी जगह बनाने के लिए खूब मेहनत की है. आज नवाजुद्दीन सिद्दीकी के जन्मदिन के मौके पर हम आपको उनके बॉलीवुड में आने के सफर को बताने जा रहे हैं कि आखिर किस तरह नवाज ने बॉलीवुड में कदम रखा.

बॉलीवुड के फाइन एक्टर्स में शुमार होने और खुद को साबित करने के लिए खूब मेहनत की है. अपनी जरूरतें पूरी करने के लिए नवाज ने कई छोटे काम किए हैं. नवाज की जिंदगी में एक समय तो ऐसा भी आया कि उन्हें खाना खाने के लिए धनिया तक बेचना पड़ा. हालांकि किसी भी काम को करने में नवाज ने कभी शर्म नहीं की. यही वजह है कि वे चौकीदारी का काम भी कर चुके हैं. इसी तरह जीवन यापन करते हुए नवाज को इस बात का अहसास हुआ कि वह मुंबई में कुछ नया करने आए हैं. जिसके बाद नवाज ने एक्टिंग में हाथ आजमाने के लिए खुद को तैयार किया.

नवाज केमिस्ट का काम करते थे. जिससे उनका गुजारा होता है. लेकिन वह यह काम बिना मन से करते थे. इसी काम के बीच नवाज एक प्ले देखने गए और इसी दिन उन्होंने यह अनुभव किया कि यह काम बहुत अच्छा है जो उन्हें किसी नई दुनिया में ले जाता है. देखते ही देखते उनकी एक्टिंग के लिए जिज्ञासा बढ़ने लगी और उन्होंने नौकरी छोड़कर दिल्ली आकर प्लेज देखना शुरू किया.

यहां आकर भी उनके लिए यही समस्या थी कि आखिर वह यहां गुजारा कैसे करेंगे. तो नवाज ने यहां आकर भी ऑफिस में वॉचमैन का काम करना शुरू किया. नौकरी से टाइम मिलते ही नवाज प्लेज देखने पहुंच जाया करते थे. नवाज एक दिन साक्षी थिएटर पहुंचे. जहां मनोज वाजपेयी परफॉर्म कर रहे थे. मनोज की एक्टिंग देखने के बाद उनसे इंस्पायर होकर नवाज ने यह ठान लिया कि वह अब करेंगे तो सिर्फ एक्टिंग. काफी मेहनत के बाद नवाज ने NSD में एडमिशन लिया और वह ग्रेजुएशन पूरा करके मुंबई आए. मायानगरी आने के बाद नवाज ने ऑडीशन देना शुरू किया. जिसके बाद उन्हें आमिर खान स्टारर ‘सरफरोश’ फिल्म में छोटा सा रोल मिला. जिसमें वह नोटिस ही नहीं किए गए. इस फिल्म के बाद ‘मुन्नाभाई एमबीबीएस’ फिल्म में नवाज नजर आए लेकिन इस फिल्म से भी वह कुछ खास पहचान नहीं हासिल कर पाए.

नवाज को मुंबई में रहने के लिए दोस्तों को मदद तो मिली लेकिन उन्हें दोस्तों के फ्लैट में कुछ लड़कों के साथ एडजस्ट करना था साथ ही वहां खाना भी बनाना था. इस शर्त को अपनाकर नवाज ने कुक का काम भी किया. उन्होंने स्टेशन के सामने बैठकर धनिया तक बेचा था. बॉलीवुड डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने नवाज की जिंदगी में आकर उनकी जिंदगी की बदल दी. नवाज फिल्म ‘ब्लैक फ्राइडे’ में नजर आए. जिसके बाद से उन्हें नोटिस किया गया. जिसके बाद आई ‘पतंग’, ‘पीपली लाइव’ और ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ जैसी फिल्मों ने नवाज को पहचान दिलाई जो आज तक बरकरार है.

Published by Chanchala Verma on 19 May 2020

Related Articles

Latest Articles