बर्थडे: साक्षी से गुपचुप शादी से लेकर क्रिकेट में अपने फैसलों तक धोनी ने हमेशा किया सभी को हैरान

Get Daily Updates In Email

भारतीय क्रिकेट टीम के कैप्टन कूल रह चुके महेंद्र सिंह धोनी आज अपना 39वां जन्मदिन मना रहे हैं. आज धोनी के जन्मदिन के मौके पर हम आपको धोनी के अचानक लिए हुए कुछ ऐसे फैसले बताने जा रहे हैं. जिसने सभी को हैरान कर दिया था –

1. साक्षी से की गुपचुप शादी –

साल 2010 ने धोनी ने साक्षी सिंह रावत के साथ शादी कर अपने फैंस को सरप्राइज दिया था. इस कपल की एक बेटी भी है जीवा. साक्षी और जीवा भी अक्सर लाइमलाइट बटोरती रहती हैं.

2. टी-20 में सहवाग और उथप्पा को बॉल आउट में उतारना –

2007 के टी-20 वर्ल्ड कप के दौरान भारत और पाकिस्तान मैच का फैसला बॉल आउट से होना था. ऐसे में कैप्टन धोनी ने रेग्यूलर गेंदबाजों की जगह सहवाग, रॉबिन उथप्पा और हरभजन सिंह को पीच पर उतारा. धोनी की यह ट्रिक काम आई और भारत के तीनों ही गेंदबाजों ने विकेट लेकर जीत हासिल की.

Courtesy 

3. जोगिंदर शर्मा को दिया था आखिरी ओवर –

साल 2007 के टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल मैच में पाकिस्तानी टीम को आखिरी ओवर में जीत के लिए 13 रन चाहिए थे. ऐसे में धोनी ने जोगिंदर शर्मा को ओवर देकर सभी को हैरान कर दिया. जोगिंदर भी धोनी की उम्मीदों पर खरे उतरे और भारत इस साल टी-20 वर्ल्ड कप चैम्पियन भी बना.

4. युवराज से पहले की थी बल्लेबाजी –

साल 2011 वर्ल्ड कप फाइनल में धोनी ने युवराज से पहले उतरने का फैसला लिया था. युवराज इस समय फॉर्म में चल रहे थे. इसके बावजूद धोनी ने पहले उतरकर सभी को हैरान कर दिया था. धोनी का यह फैसला भी सही साबित हुआ और 1983 के बाद भारतीय टीम ने दूसरी बार वर्ल्ड कप का खिताब जीत पाई. साथ ही इस मैच में धोनी ने खुद छक्का लगाकर टीम इंडिया को जीत दिलाई.

Courtesy 

5. रोहित का हिटमैन बनना –

रोहित को वनडे में ओपनिंग करवाना धोनी का एक और अहम फैसला था. जिस वजह से रोहित शर्मा ने वनडे मैचों में 3 बार दोहरा शतक लगाने में रिकॉर्ड बनाया. साल 2013 में धोनी ने अपनी कप्तानी ने ओपनर बनने का मौका दिया था. जिसके बाद से ही रोहित ने कई रिकार्ड्स अपने नाम किए.

6. अंग्रेजी बल्लेबाजों के सामने ईशांत को दिया था ओवर –

साल 2013 की चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारत और इंग्लैंड के बीच मैच खेला गया. 129 रन बनाने के बाद इंग्लैंड के सामने धोनी की कप्तानी में टीम के बेहतरीन गेंदबाजी कर रिकॉर्ड बनाया. बता दें इंग्लिश बल्लेबाजों को भारतीय स्पिनरों को खेलने में मुश्किल हो रही थी. ऐसे में तेज गेंदबाज इशांत शर्मा को ओवर देकर धोनी ने जीत अपने नाम की.

Courtesy 

7. टेस्ट क्रिकेट से लिया सन्यास –

साल 2014 में धोनी के सन्यास लेने के फैसले ने सभी को हैरान कर दिया था. धोनी ने मेलबर्न टेस्ट के बाद टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लेने का फैसला किया था. दरअसल लगातार विदेशी दौरों में टीम इंडिया की हार की वजह से धोनी ने इतना बड़ा फैसला लिया थे.

8. वनडे और टी-20 की कप्तानी को भी कहा था अलविदा –

टेस्ट क्रिकेट के बाद धोनी ने साल 2017 की शुरुआत में ही वनडे और टी-20 कप्तानी को भी अलविदा कह दिया था.

Published by Chanchala Verma on 07 Jul 2020

Related Articles

Latest Articles