बर्थडे: बचपन से नहीं थी किशोर कुमार की आवाज सुरीली, इसके बावजूद बने बॉलीवुड के बेहतरीन सिंगर

Get Daily Updates In Email

जब भी हिंदी सिनेमा के बेस्ट सिंगर्स का नाम लिया जाता है. तो उसमें सबसे पहला नाम किशोर कुमार का शामिल होता है. उन्होंने हिंदी सिनेमा में बेहतरीन गाने गाए हैं. या यूं कहें कि किशोर कुमार ने गायकी के मामले में हिंदी सिनेमा को नई दिशा दी है. आज किशोर कुमार का जन्मदिन है और आज सिंगर के जन्मदिन के मौके पर हम आपको उनके जीवन से जुड़ी कुछ बातें बताने जा रहे हैं.

आज ही के दिन साल 1929 में किशोर कुमार का जन्म हुआ था. मध्य प्रदेश के खंडवा में जन्में किशोर कुमार का असली नाम था आभाष कुमार गांगुली. पूरी दुनिया पर अपनी आवाज का जादू बिखेर चुके किशोर कुमार सिंगर होने के साथ ही संगीतकार, लेखक और निर्माता भी थे. लेकिन बतौर सिंगर उन्होंने अपनी पहचान इंडस्ट्री में बनाई.

View this post on Instagram

One month since we posted last. Guys- here’s the thing. We admins had our own share of personal struggles that we’d to deal with, and in such a situation, it’d become rather impossible to be active here. Nevertheless, today’s post is a ray of positive beginning. Here is how it goes- I woke up in a feverish state. I had my coffee, and was about to sleep again (coffee never has an effect on my sleep, let me tell you this😂) that a thought popped up in my Pinterest feed- “Life is short. Don’t be afraid.” So I woke up finally (😂), played some KK music and did some more Pinteresting. Kishore knew of this ideology from soooo long. A reason why he always enjoyed what he had FOR now. Kyuki- past is gone. Can’t be tackled with. Future is about to come, but unforeseen. Can’t be dealt with. What we HAVE, is NOW- the PRESENT. With this, wishing you a marvellous day ahead. ✨ #KishoreKumar

A post shared by KISHORE KUMAR © (@officialkishorekumar) on

किशोर कुमार की जिंदगी का एक समय ऐसा था जब उनका नाम इंडस्ट्री के सबसे महंगे गायकों में शामिल था. किशोर कुमार के लिए तो यहां तक कहा जाता है कि उनके गानों की वजह से ही इंडस्ट्री में कई सुपरस्टार बने हैं. सिंगर से 1500 से ज्यादा गानों को अपनी आवाज़ दी है. जिन्हें दर्शक आज तक सुनना पसंद करते हैं.

बता दें गायकी में महारत हासिल कर चुके किशोर कुमार की आवाज़ बचपन से कुछ खास नहीं थी. किशोर कुमार के भाई अशोक कुमार ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि बचपन में किशोर की आवाज़ काफी ख़राब थी. उनका गला काफी बैठा हुआ था.

किशोर कुमार की जिंदगी से जुड़ा एक किस्सा यह भी पॉपुलर है कि जब किशोर यानी आभाष छोटे थे तब वह किचन में अपनी मां के पास भागकर पहुंचे थे. ऐसे में उनका पैर वहां पड़ी दराती पर पड़ गया जिसकी वजह से उनके पैर की एक उंगली में बुरी तरह से चोट लग गई थी. जिस वजह से सिंगर को बहुत दर्द हुआ जो असहनीय था. 20 दिन तक किशोर कुमार रोते रहे जिस वजह से उनके गले में भी बदलाव आ गया और उनकी आवाज़ को एक अलग खनक भी मिल गई.

किशोर कुमार उसूलों के पक्के थे. वह अपने पैसे कभी नहीं छोड़ते थे. जैसे ही वह कोई फिल्म साइन करते थे तो उन्हें अपने नाम का चेक मिल जाता था. भले ही फिल्म एडवांस में फिल्म मेकर ने उन्हें एक रुपया ही क्यों ना दिया हो.

Published by Chanchala Verma on 04 Aug 2020

Related Articles

Latest Articles