10वीं क्लास से ही मृदुला को पंकज ने मान लिया था अपनी पत्नी, बर्थडे पर जानें एक्टर से जुड़ी बातें

Get Daily Updates In Email

फिल्मों, टीवी और वेब सीरीज की दुनिया में अपने अलग-अलग किरदार से धमाल मचाने वाले पंकज त्रिपाठी का आज जन्मदिन है. एक्टर को जो पहचान हासिल हुई है. उसके पीछे जानिए कितनी मेहनत और संघर्ष उन्हें करना पड़ा. एक्टर पंकज त्रिपाठी का जन्म 5 सितंबर 1976 में बिहार के गोपालगंज जिले में बेलसंड नाम के एक गांव में हुआ था.

पंकज त्रिपाठी के गांव के पास ही मनोज बाजपेयी का गांव है. मनोज का असर पंकज की जिंदगी पर पड़ा है. जिस वक्त ‘सत्य’ रिलीज हुई थी तो लोगों ने मनोज बाजपेयी के बारे में खूब बात की. उस वक्त पंकज त्रिपाठी को लगा कि यदि पड़ोसी गांव का कोई आदमी एक्टर बन सकता है, तो वो क्यों नहीं. कॉलेज की राजनीति के दौरान एक्टर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का हिस्सा थे और 1993 के दौरान राज्य सरकार के खिलाफ आवाज उठाने पर उन्हें जेल हुई थी.

तीसरी बारी में उन्हें नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में एडमिशन मिला था. उससे पहले उन्हें दो बार रिजेक्ट कर दिया गया था. पंकज ने एक इंटरव्यू में बताया कि उन्होंने 10वीं कक्षा में ही अपना जीवन साथी चुन लिया था. यह मौका था उनकी बहन के तिलक का जिसमें उन्होंने पहली बार मृदुला को देखा था. पंकज त्रिपाठी नीचे थे और जब उन्होंने मृदुला को देखा तो वह छज्जे पर थीं. इसके बाद दोनों आंगन में पहली बार मिले और इसके बाद पंकज ने तय कर लिया कि वह उन्हीं से शादी करेंगे.

बॉलीवुड एक्टर पंकज त्रिपाठी बतौर करेक्टर आर्टिस्ट अब इतने मशहूर हो चुके है कि अगर वह किसी फिल्म का हिस्सा बनते हैं तो दर्शक उनके चक्कर में फिल्म थिएटर तक आसानी से खींचे चले आते हैं. ‘फुकरे रिटर्न्स’, ‘लुक्का छिपी’ ,’बरेली की बर्फी’, ‘सुपर 30’ जैसी कई फिल्में हैं जब स्क्रीन पर पंकज त्रिपाठी के कॉमिक अंदाज पर दर्शकों ने थिएटर में सीटियां बजाई हैं. सिर्फ फिल्मों में ही नहीं बल्कि ‘मिर्जापुर’ और ‘सेक्रेड गेम्स’ जैसी वेब सीरीज को लेकर भी पंकज त्रिपाठी काफी चर्चा में रहे हैं.

उनके दमदार अभिनय को दर्शकों के साथ- साथ क्रिटिक्स से भी काफी सराहना मिली है.

Published by Yash Sharma on 05 Sep 2020

Related Articles

Latest Articles