एक्टिंग के कारण स्कूल ने किया था ऋषि को बाहर, मिला था सर्वश्रेष्ठ बाल कलाकार का राष्ट्रीय पुरस्कार

Get Daily Updates In Email

बॉलीवुड एक्टर ऋषि कपूर आज भले ही इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन अपनी फिल्मों के जरिए वह आज तक लोगों के दिलों में जिंदा हैं. ऋषि कपूर की जिंदगी में कई दिलचस्प किस्से ऐसे हैं जो आज भी मशहूर हैं. ऐसा ही एक किस्सा आज हम आपके साथ शेयर करने जा रहे हैं जो उनके बचपन से जुड़ा है.

बता दें ऋषि कपूर जब स्कूल में थे तो उन्हें स्कूल से निकाल दिया गया था. शायद आपको यकीन न हो रहा हो लेकिन यह सच है. अब आपको बताते हैं कि आखिर ऐसा क्या हुआ था कि ऋषि कपूर को स्कूल से बाहर निकाल दिया गया था.

ऋषि मुंबई के कैम्पियन स्कूल में पढ़ रहे थे. तभी उनके पिता राज कपूर ने अपनी फ़िल्म ‘मेरा नाम जोकर’ में उन्हें कास्ट करने का मन बनाया लिया. अब फ़िल्म की शूटिंग की वजह सेे ऋषि कपूर स्कूल नहीं जा पाते थे और यह बात उनके टीचर्स को पसंद नहीं आती थी. जिस वजह से उन्हें स्कूल से निकाला दिया गया था. जिसके बाद अपने बेटे को फिर से एडमिशन दिलाने के लिए राज कपूर को खूब पापड़ बेलने पड़े थे.

हालांकि यह इस फ़िल्म के लिए ऋषि कपूर को सर्वश्रेष्ठ बाल कलाकार का राष्ट्रीय पुरस्कार मिला था. जिसे लेकर अपना अनुभव एक्टर ने अपनी आत्मकथा में भी साझा किया था. ऋषि कपूर ने लिखा था – ‘जब में मुंबई लौटा तो मेरे पिता ने उस पुरस्कार के साथ मुझे अपने दादा पृथ्वीराज कपूर के पास भेजा. मेरे दादा ने वो ने मैडल अपने हाथ में लिया और उनकी आंखें भर आईं. उन्होंने मेरे माथे को चूमा और भरी हुई आवाज में कहा, ‘राज ने मेरा कर्जा उतार दिया.’

वैसे आपको बता दें ऋषि कपूर ही नहीं कपूर खानदान के कई सितारे स्कूल छोड़कर इंडस्ट्री में आए हैं. राज कपूर के भाई शम्मी कपूर ने भी पढ़ाई छोड़कर बॉलीवुड में एंट्री ली थी और वह सफल भी रहे.

Published by Chanchala Verma on 08 Sep 2020

Related Articles

Latest Articles