1 जनवरी 2021 से बदलने वाले हैं SBI से चेक पेमेंट करने के नियम, शुरू होगा पॉजिटिप पे सिस्टम

Get Daily Updates In Email

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक है. नए साल के आने के साथ ही बैंक चेक से पेमेंट करने के नियमों में बदलाव करने जा रही हैं. बैंक पॉजिटिप पे सिस्टम शुरू करने वाली है. यह नियम 50 हजार रूपए से ज्यादा के चेक पेमेंट के नियमों पर लागू होगा. यानी एसबीआई ग्राहकों को 1 जनवरी से 50 हजार रूपए से ज्यादा की कीमत वाले चेक जारी करते समय अकाउंट नंबर, चेक नंबर, चेक अमाउंट, चेक डेट आदि की जानकारी चेक पेमेंट के लिए देनी होगी. इसके साथ ही एसबीआई पॉजिटिव पे सिस्टम ग्राहकों का विकल्प दे रहा है और इस बारे में कोई भी सवाल या परेशानी होने पर आप बैंक ब्रांच को संपर्क कर सकते हैं.

Courtesy 

क्या है यह नया पॉजिटिव पे सिस्टम –

यह सिस्टम एक स्वचालित टूल है जो चेक के जरिए होने वाली धोखाधड़ी को कम करने में मदद करेगा. इससे जो व्यक्ति चेक जारी करेगा, उन्हें इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से चेक की तारीख, लाभार्थी का नाम, प्राप्तकर्ता और पेमेंट की रकम के बारे में दोबारा जानकारी देनी होगी. चेक जारी करने वाला कस्टमर यह जानकरी एसएमएस, मोबाइल ऐप, इंटरनेट बैंकिंग या एटीएम जैसे इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से भी दे सकता है. चेक पेमेंट से पहले इन जानकारियों को क्रॉस-चेक भी किया जाएगा. अगर इसमें किसी भी तरह ही गड़बड़ी आती है तो चेक से भुगतान नहीं किया जाएगा और संबंधित बैंक शखा को इस बात की जानकारी दी जाएगी.

Courtesy 

नए नियम के आने से होंगे ये 5 मुख्य बदलाव –

1. पॉजिटिव पे सिस्टम बड़े भुगतान वाले चेक के विवरणों को दोबारा जांचने की प्रक्रिया है.

2. बैंक 50,000 रूपए और उससे ज्यादा के भुगतान के मामले में खाताधारकों के लिए नया नियम लागू करेगी. हालांकि खाताधारक ही यह तय करेगा कि वह इस सुविधा का लाभ लेना चाहता है या नहीं. बैंक पांच लाख रूपए और उससे ज्यादा के चेक के मामले में इसे अनिवार्य कर सकते हैं.

3. इस नए सिस्टम के हिसाब से चेक जारी करने वाला व्यक्ति चेक की जानकारी एसएमएस, मोबाइल एप, इंटरनेट बैंकिंग और एटीएम के माध्यम से दे सकता है. साथ ही चेक का भुगतान करने से पहले भी इन जानकारियों की दोबारा जांच की जाएगी.

4. नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) जल्द ही पॉजिटिव पे सिस्टम को विकसित कर इसे सहभागी बैंकों को उपलब्ध कराएगा.

5. यही नहीं नए नियम के अंतर्गत आए चेक ही सीटीएस ग्रिड विवाद समाधान तंत्र के तहत स्वीकार किए जाएंगे.  सभी बैंकों को चेक क्लियर या संग्रह में नए नियम को लागू करना होगा.

Courtesy 

बता दें आरबीआई ने सभी बैंकों को 1 जनवरी से पहले नए चेक के नियम से अवगत कराने के लिए जागरूक करने को कहा है. इसके लिए आरबीआई ने ग्राहकों को एसएमएस के जरिए अलर्ट भेजने को कहा है. इसके साथ ही बैंक शाखा डिस्पले लगाकर नए नियम के बारे में ग्राहकों को जानकारी भी दी जाएगी. एटीएम और ऑनलाइन बैंकिंग के दौरान भी नए नियम की जानकारी दी जाएगी.

Published by Chanchala Verma on 30 Dec 2020

Related Articles

Latest Articles