साउथ पोल छूने वाली पहली महिला आईपीएस हैं अपर्णा, उत्तराखंड रेस्क्यू को कर रही हैं लीड

Get Daily Updates In Email

उत्तराखंड की तपोवन सुरंग में इन दिनों बचाव कार्य किया जा रहा है. इस बचाव अभियान कार्य की अगुवाई आईटीबीपी अधिकारी उप महानिरीक्षक (डीआईजी) अपर्णा कुमार कर रही हैं. जो दक्षिणी ध्रुव की चोटी को फतह करने वाली पहली महिला भी हैं. इस काम में उनके साथ सीमा सुरक्षा बल के पहाड़ी युद्ध कौशल कला में निपुण अधिकारी भी हैं. जिन्होंने पहाड़ों पर आई आपदाओं को काफी करीब से देखा है. बता दें अपर्णा कुमार 2002 बैच की भारतीय पुलिस सेवा में उत्तर प्रदेश काडर की अधिकारी भी हैं.

Courtesy

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में स्थित आईटीबीपी की उत्तरी कमान की सेक्टर प्रभारी 45 वर्षीय कुमार को ऐसी पहली महिला आईपीएस अधिकारी एवं आईटीबीपी अधिकारी के तौर पर जाना जाता है. जिन्होंने दक्षिणी ध्रुव को फतह करने की उपलब्धि 2019 में हासिल की थी. कुमार कर्नाटक की रहने वाली हैं और उनके दो बच्चे हैं. वह साल 2018 में प्रतिनियुक्ति पर आईटीबीपी में आई थीं. जोशीमठ से उन्होंने हुई बातचीत में बताया – ‘तपोवन सुरंग में मलबा साफ करने का अभियान जारी है. यह मुश्किल है लेकिन हम लगे हुए हैं.’ बता दें कुमार प्रतिष्ठित ‘सेवन समिट चैलेंज’ भी पूरा कर चुकी हैं. जिसमें सात महाद्वीपों की सात शीर्ष चोटियों तक पहुंचना होता है. साल 2019 में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कुमार को तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहसिक पुरस्कार से सम्मानित भी किया था.

Courtesy

आईटीबीपी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि – ‘रविवार को जब त्रासदी हुई थी तब से कुमार तपोवन-जोशीमठ में हैं.’ आगे उन्होंने बताया कि कुमार के सहायक हैं जोशीमठ (चमोली जिले) में आईटीबीपी की पहली बटालियन के कमांडिंग अधिकारी बेनुधर नायक. नायक की भी पहाड़ों में काफी समय तक तैनाती रही है और उन्हें इसका खासा अनुभव है. 2013 में जब राज्य में बड़े पैमाने पर बाढ़ एवं आपदा आई थी तब वह उत्तराखंड में पदस्थ थे.’

Courtesy

एक अधिकारी ने बताया – ‘कमांडो का प्रशिक्षण प्राप्त अधिकारी शर्मा रविवार को छोटी सुरंग में जाने वाले पहले व्यक्ति थे. उस सुरंग से एनटीपीसी, तपोवन के 12 श्रमिकों को बचाया गया था.’

Published by Chanchala Verma on 12 Feb 2021

Related Articles

Latest Articles