8 महीने में सबसे कम दाम पर पहुंचा सोना, चांदी की कीमतों में भी दिखाई दी हल्की नरमी

Get Daily Updates In Email

सोने और चांदी की कीमतों में हर रोज बढ़त और गिरावट होती रहती है. इसी बीच बीते हफ्ते यानी 15 से 19 फरवरी को बुलियन मार्केट में सोने के भाव में अच्छी खासी गिरावट देखने को मिली है. पिछले पांच दिनों में सर्राफा बाजारों में 24 कैरेट सोने का हाजिर भाव करीब 1285 रूपए प्रति 10 ग्राम तक सस्ता हो गया. जनवरी के मुकाबले इस महीने सोने की कीमतों में 3292 रूपए की गिरावट आई है. जबकि चांदी 1312 रूपए सस्ती हुई है.

Courtesy

ऑल टाइम हाई रेट से अगर तुलना की जाए तो गोल्ड अभी भी 10153 रूपए प्रति 10 ग्राम तक सस्ता हो गया है. पिछले साल के अपने उच्चतम मूल्य से चांदी 7594 रूपए प्रति किलो तक सस्ती हुई है. रिपोर्ट्स की माने तो 29 जनवरी 2021 को चांदी 69726 रूपए प्रति किलो के रेट से बिकी थी. तो वहीं 19 फरवरी 2021 को यह 68414 रूपए पर आ गई. बात करें सोने की तो 24 कैरेट गोल्ड 29 जनवरी को 49393 रूपए प्रति 10 ग्राम के रेट से बंद हुआ था, जबकि 19 फरवरी को यह 46101 रूपए तक पहुंच गया.

Courtesy

केडिया कैपिटल के डायरेक्टर और रिसर्च हेड अजय केडिया का कहना है कि इक्वटी मार्केट में अनिश्चितता कुछ कम हुई है और मार्जिन बढ़ने की वजह से ज्यादा गिरावट आई है, लेकिन यह गिरावट अस्थाई है. लॉन्ग टर्म में तेजी आएगी. सोने के भाव में फिर से तेजी आने के दावे पर केडिया कहते हैं कि ग्लोबल मार्केट में लोवर इंट्रेस्ट रेट है, ईटीएफ में अभी भी खरीददारी चल रही है, इक्विटी मार्केट में वैल्युएशन हाई है और कोई भी करेक्शन सोने में तेजी लाएगा. उनका मानना है कि सोने में निवेश करना है तो अभी निवेशकों को 46000 से 46500 पर खरीदारी करनी चाहिए. एक दो महीने में इसकी कीमत 50000 प्रति 10 ग्राम से ऊपर जा सकती है.

Courtesy

सोने के लिए साल 2020 काफी शानदार साबित हुआ था. सोने की कीमत में करीब 30 फीसदी तक की बढ़ोतरी हुई थी. वैश्विक बाजार में भी सोना करीब 25 फीसदी महंगा हुआ था. इससे पहले साल 2019 में भी सोने के दाम में बढ़ोतरी की दर डबल डिजिट में देखी गई थी. 2020 में सोने के दाम में आई तेजी की वजह महामारी थी.

Published by Chanchala Verma on 20 Feb 2021

Related Articles

Latest Articles