सोनू सूद ने किया स्टूडेंट्स का सपोर्ट, एग्जाम की बजाय ‘आंतरिक मूल्यांकन पद्धति’ पर दिया जोर

Get Daily Updates In Email

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद ने लॉकडाउन के दौर में प्रवासी मजदूरों और जरुरतमंद लोगों की मदद कर खुद को एक अच्छा इंसान साबित किया है. लोगों के दिलों में पहले सोनू सूद की केवल एक एक्टर होने की छवि अब देखते ही देखते एक मसीहा की बन चुकी है. एक्टर कई मुद्दों पर अब अपनी राय भी खुलकर सामने रखने लगे हैं. जैसे हाल ही में एक्टर ने स्टूडेंट्स के लिए अपनी राय पेश की है.

एक्टर में बोर्ड परीक्षा को रद्द किए जाने को लेकर एक याचिका का सपोर्ट किया है. इसे लेकर उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक वीडियो भी शेयर किया है. इस वीडियो के जरिए सोनू ने यह आग्रह किया है कि स्टूडेंट्स को अगली क्लास में भेजने से जुड़ी एक ‘आंतरिक मूल्यांकन पद्धति’ होनी चाहिए. वहीं वे यह भी कह रहे हैं कि स्टूडेंट्स कोरोनो महामारी के बढ़ते केसेस के बीच एग्जाम देने के लिए भी रेडी नहीं हैं.

वीडियो में सोनू सूद कहते दिखाई दे रहे हैं, ‘छात्रों की ओर से, मैं एक निवेदन करना चाहता हूं. सीबीएसई और बोर्ड की परीक्षाएं ऑफलाइन आयोजित होने वाली हैं, मुझे नहीं लगता कि कोरोना महामारी के दूसरे वेब से बनी इस परिस्थिति में छात्र परीक्षा में बैठने के लिए तैयार हैं. फिर भी, हम परीक्षा आयोजित करने के बारे में सोच रहे हैं, जो कि अनुचित है. मुझे नहीं लगता कि ऑफलाइन परीक्षाओं के लिए यह सही समय है. मैं चाहूंगा कि सभी आगे आएं और इन छात्रों का समर्थन करें, ताकि वे सुरक्षित रह सकें. आल द बेस्ट.’

वीडियो को शेयर करते हुए सोनू सूद ने एक शोर्ट नोट भी शेयर किया है. इसमें एक्टर ने लिखा है, ‘मैं उन सभी छात्रों का समर्थन करने का अनुरोध करता हूं, जो इस कठिन समय में ऑफलाइन बोर्ड परीक्षा में बैठने के लिए मजबूर हैं. एक दिन में 145 हजार तक बढ़ रहे कोरोनावायरस मामलों की संख्या चिंताजनक है. मुझे लगता है कि इतने सारे छात्रों के जीवन को जोखिम में डालने के बजाय, विद्यार्थियों को अगली क्लास में प्रमोट करने के लिए आंतरिक मूल्यांकन पद्धति होनी चाहिए.’

Published by Kapil Mali on 12 Apr 2021

Related Articles

Latest Articles